अजय विश्नोई ने शिवराज सरकार का किया भंडाफोड़, प्रदेश में ऑक्सीजन घोटाले के दिए संकेत

अजय विश्नोई इससे पहले भी स्वास्थ्य विभाग के कोरोना के आंकड़ों पर सवाल उठा चुके हैं, विश्नोई ने महाराष्ट्र का उदाहरण देते हुए कहा है कि महाराष्ट्र के मुकाबले मध्यप्रदेश में कोरोना के कम मरीज़ होते हुए भी अधिक मात्रा में ऑक्सीजन कैसे खर्च हो गई

Updated: Apr 14, 2021, 03:13 PM IST

अजय विश्नोई ने शिवराज सरकार का किया भंडाफोड़, प्रदेश में ऑक्सीजन घोटाले के दिए संकेत
Photo Courtesy: Freepress journal

भोपाल। कोरोना के संकट काल में मध्यप्रदेश में अब ऑक्सीजन घोटाले की बू आ रही है। ऑक्सीजन घोटाले का दावा किसी विपक्षी नेता ने नहीं बल्कि खुद बीजेपी के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अजय विश्नोई ने किया है। विश्नोई ने शिवराज सरकार पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। अजय विश्नोई ने कहा है कि अप्रैल के पहले सप्ताह में महाराष्ट्र के मुकाबले कम मरीज़ होने के बावजूद भारी मात्रा में ऑक्सीजन खर्च कैसे हो गई? 

यह भी पढ़ें : बीजेपी विधायक अजय विश्नोई और सरकार के बीच वीडियो कांफ्रेंस में तीखी बहस, कोरोना के सरकारी आंकड़ों पर उठाए सवाल

पाटन सीट से बीजेपी के विधायक अजय विश्नोई ने कहा है कि अप्रैल के पहले सप्ताह में महाराष्ट्र में 50 हज़ार मरीज़ थे। वहां पर 457 मीट्रिक टन ऑक्सीजन खर्च हुई है। जबकि महाराष्ट्र के मुकाबले में मध्यप्रदेश में महज दस फीसदी मरीज़ होने के बावजूद लगभग दोगुना ऑक्सीजन खर्च हुआ है। 

अजय विश्नोई ने अपने ट्वीट में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को टैग कर कहा है, 'प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी है मुख्यमंत्री जी कृपया ध्यान दें, अप्रैल के प्रथम सप्ताह में महाराष्ट्र में 50000 मरीज थे और ऑक्सीजन 457 मेट्रिक टन खर्च हुई है वहीं मध्यप्रदेश में 5000 मरीजों पर 732 मेट्रिक टन ऑक्सीजन खर्च क्यों हुई?' 

ऑक्सीजन को लेकर किए गए विश्नोई के इस खुलासे से राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मच गया है। कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने शिवराज सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है, शिवराजजी अपनी सरकार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अजय विश्नोई के सवाल का ही जवाब दे दीजिए! महाराष्ट्र के मुकाबले 10% मरीज होते हुए ऑक्सीजन की खपत ज्यादा क्यों हुई?नया घोटाला ऑक्सीजन होगा! "पैसा हो,चाहे जैसा हो"

हालांकि यह पहली मर्तबा नहीं है जब कोरोना के दौर में अजय विश्नोई ने शिवराज सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं। अजय विश्नोई ने सीएम के साथ हुई एक वर्चुअल मीटिंग में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए जाने वाले कोरोना के सरकारी आंकड़ों पर भी सवाल खड़े किए थे। विश्नोई ने कहा था कि जबलपुर में लगातार कोरोना संक्रमितों में बढ़ोतरी हो रही है, लोग ज़्यादा सांख्य में मर भी रहे हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन गलत आंकड़े जा कर रहा है।