Aatma Nirbhar MP: मुख्यमंत्री शिवराज ने जारी किया आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोडमैप

रोडमैप तो जारी हो गया लेकिन क़र्ज़ पर निर्भर सरकार प्रदेश को आत्मनिर्भर कैसे बनाएगी यह बड़ा सवाल है

Updated: Nov 12, 2020, 05:19 PM IST

Aatma Nirbhar MP: मुख्यमंत्री शिवराज ने जारी किया आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोडमैप
Photo Courtesy: twitter

भोपाल। प्रदेश की खराब आर्थिक स्थिति और लगातार बढ़ते कर्जे के बीच सरकार ने अगले तीन साल का रोड मैप तैयार कर लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साल 2023 तक मध्य प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प लिया है। इसके लिए गुरुवार को रोडमैप का विमोचन किया गया। मध्य प्रदेश में सड़क बिजली, पानी समेत रोजगार, अधोसंरचना, अर्थव्यवस्था, सुशासन, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में विकास के लिए रोडमैप तैयार किया है। अगले तीन साल में इस पर प्रदेश सरकार काम करेगी। 

कर्ज में डूबी है प्रदेश सरकार

गौरतलब है कि प्रदेश पर लगातार कर्जों का बोझ बढ़ता जा रहा है। शिवराज सरकार एक बार फिर दो हजार करोड़ रुपए का कर्ज लेने जा रही है। पिछले 5 हफ्ते में यह पांचवां मौका है जब मध्य प्रदेश सरकार कर्ज ले रही है। फिलहाल मध्य प्रदेश सरकार पर 2 लाख करोड़ रुपये से ज़्यादा कर्ज है। मध्य प्रदेश सरकार हर साल 16 हजार करोड़ रुपये ब्याज़ भरती है। फंड के लिए कर्ज़ पर निर्भर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने का रोड मैप कितना कारगर होता है, यह देखने वाली बात होगी।

 

सीएम ने परिश्रम की पराकाष्ठा करने की कही बात

आपको बता दें कि यह रोडमैप विषय विशेषज्ञों से चर्चा करके तैयार किया गया है। इसके जरिए आत्मनिर्भर भारत की तर्ज पर आत्मनिर्भर प्रदेश बनाने पर जोर दिया जाएगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश में गरीबों को पूरा न्याय मिलेगा। गरीबों की आय बढाने पर काम किया जाएगा। अगले तीन साल तक एक-एक क्षण का उपयोग किया जाएगा, परिश्रम की पराकाष्ठा करेंगे, प्रयत्नों की परिसीमा करेंगे।

देश निर्माण में होगा मध्यप्रदेश का सबसे ज्यादा योगदान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि हम एक ऐसा आत्मनिर्भर एमपी बनाएंगे, जिससे सारा देश यह कहेगा कि आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में सर्वश्रेष्ठ योगदान मध्यप्रदेश का है। उन्होंने इस काम के लिए आम लोगों से सहयोग करने की अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विभाग और मंत्री के साथ-साथ प्रदेश के जन जन की सहभागिता भी आवश्यक होगी।

 और पढ़ें: शिवराज सरकार फिर लेगी 2000 करोड़ रुपये का क़र्ज़, 5 हफ़्ते में पांचवीं बार लेना पड़ेगा उधार

आत्मनिर्भर होने के लिए रोडमैप तैयार करने वाला पहला राज्य मप्र

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के तर्ज पर मध्यप्रदेश में काम हो रहा है। यह देश का पहला ऐसा राज्य है जहां विषय-विशेषज्ञों से आनलाइन चर्चा कर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप तैयार किया है। इस रोडमैप को प्रदेशवासियों के सामने रखा गया है। सरकार ने प्रदेश की जनता को सड़क, बिजली और पानी उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है। यह रोडमैप आत्मनिर्भर भारत की तर्ज पर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिए काम करेगा। मुख्यमंत्री का कहना है कि मध्य प्रदेश को आगे बढ़ाने के लिए सरकार का एक और प्रयास है। देश में आत्मनिर्भर बनने के लिए रोडमैप तैयार करने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य है।

 और पढ़ें: शिवराज सरकार की माली हालत खराब, बाजार से चौथी बार लिया 1 हजार करोड़ का कर्ज

उपचुनाव में जीतने के बाद बीजेपी सरकार का कान्फिडेंस और बढ़ता जा रहा है। अब सरकार प्रदेश में विकास की नई इबारत लिखने की तैयारी में है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश रोडमैप-2023 के विमोचन कार्यक्रम में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष और सांसद विष्णुदत्त शर्मा और भारत सरकार के नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत भी शामिल हुए।