Corona in MP: होटल मालिकों से गठजोड़ की कीमत जनता क्यों चुकाए

MP Home Quarantine Rules: कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी का आरोप, कोरोना अस्पताल को बीजेपी नेताओं ने बनाया अपना ऑफिस

Updated: Aug-02, 2020, 09:13 AM IST

Corona in MP: होटल मालिकों से गठजोड़ की कीमत जनता क्यों चुकाए

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने सरकार की होम क्वारंटाइन  नीति की तीखी आलोचना की है। जीतू पटवारी ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया है कि भोपाल में सरकार होटल मालिकों से गठजोड़ कर आम जनता को लूट रही है।

जीतू पटवारी ने राज्य सरकार की नीतियों की कटु आलोचना करते हुए कहा कि भोपाल में कोई व्यक्ति यदि कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसके घर के एक सदस्य को छोड़ कर सभी लोगों को सरकारी केंद्र या प्राइवेट अस्पताल में जाने के लिए बाध्य किया जा रहा है। पटवारी ने कहा कि सभी को सरकारी केंद्रों की स्थिति मालूम है। इसलिए लोगों को प्राइवेट होटल में जाना पड़ रहा है, जिसके लिए उनसे मोटी रकम भी वसूल की जा रही है।  ग़ौरतलब है कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश में होम एवं इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन किया जा रहा है। होम क्वारंटाइन के लिए होटलों में पेड क्वारंटाइन की व्यवस्था भी की गई है। इसके लिए चार प्रमुख शहरों में 1500 रुपये प्रतिदिन तथा अन्य शहरों में एक हजार रूपये प्रतिदिन भुगतान करना होगा।

होटलों में कोरोना को लेकर कोई सतर्कता नहीं
जीतू पटवारी ने कहा है कि पैसा खर्च करने के बाद भी सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं है। प्राइवेट होटलों में कोरोना को लेकर कोई सतर्कता नहीं बरती जा रही है। घर से बाहर रहने की वजह से लोगों पर मानसिक दवाब भी बढ़ रहा है। जीतू पटवारी ने राज्य सरकार से अपील करते हुए कहा कि सरकार तुरंत इस तुगलकी फरमान को वापस ले और कोरोना पॉजिटिव के परिजनों को घर पर ही क्वारंटाइन होने की अनुमति दे।

मुख्यमंत्री और जनता के लिए नियम अलग क्यों ?
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी राज्य सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि क्या मुख्यमंत्री और जनता के लिए नियम अलग अलग है? अगर ऐसा नहीं है तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के परिजनों को होटल में शिफ्ट क्यों नहीं किया गया है।

बीजेपी ने अस्पताल को अपना ऑफिस बना लिया है
जीतू पटवारी ने कोरोना का उपचार करा रहे बीजेपी नेताओं पर आरोप लगाया कि कोरोना अस्पताल को बीजेपी ने अपना ऑफिस बना लिया है। वहां से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अध्यक्ष वीडी शर्मा और अन्य नेता कोरोना के सभी प्रोटोकॉल तोड़ते हुए वर्चुअल मीटिंग करने में लगे हैं। अस्पताल द्वारा इस पर मूक सहमति सवाल खड़े करती है। ज्ञात हो कि शनिवार दोपहर को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष और सुहास भगत ने वर्चुअल मीटिंग के जरिए प्रदेश के सभी बीजेपी ज़िला अध्यक्षों को संबोधित किया था।