एमपी में 7 मई तक बढ़ा कोरोना कर्फ़्यू, सीएम ने बैठक में लिया फैसला

समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एक साथ समीक्षा बैठक नही हो सकती इस लिए तीन ए. बी .सी ग्रुप बनाये गए हैं।

Updated: Apr 28, 2021, 07:10 PM IST

एमपी में 7 मई तक बढ़ा कोरोना कर्फ़्यू, सीएम ने बैठक में लिया फैसला
Photo courtesy: zee news

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना बेक़ाबू हो गया है। सरकार की लाख कोशिश के बाद भी कोरोना संक्रमण के मामले कम नही हो रहे, कोरोना की कड़ी तोड़ने के लिए सरकार लॉकडाउन का सहारा ले रही है। प्रदेश में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इसको लेकर बुधवार को आपदा प्रबंधन समितियों की बैठक हुई । इस बैठक में प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू 7 मई तक बढ़ाए जाने का निर्माण लिया गया।

प्रदेश के नीमच, होशंगाबाद और देवास जिले में सख्ती बढ़ा दी गई है। यह सख्ती 7 मई तक लागू रहेगी। होशंगाबाद में 7 मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। इसके साथ नीमच और देवास में 7 मई तक टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है। यहां जरूरी सामानों की भी अनुमति नहीं दी गई है। इतना ही नहीं सीएम शिवराज ने कहा जरूरत पड़ने पर कोरोना कर्फ्यू को आगे बढ़ाया जा सकता है।


बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एक साथ सभी जिलों की कोरोना समीक्षा बैठक नहीं हो सकती है. इसलिए जिलों को तीन ग्रुपों ए.बी.सी में बांटा गया है।

ग्रुप ए में इंदौर, उज्जैन, रतलाम, टीकमगढ़, धार, अनूपपुर, झाबुआ, नीमच, देवास, निवाड़ी, मंदसौर, खरगोन, शाजापुर, आगर मालवा ,अलीराजपुर, बड़वानी, खंडवा, बुरहानपुर जिले को रखा गया है. जबकि ग्रुप बी में भोपाल, विदिशा,ग्वालियर, बैतूल, दतिया, सीहोर, मुरैना, शिवपुरी ,होशंगाबाद, अशोक नगर, रायसेन, राजगढ़ गुना हरदा श्योपुर भिंड जिले शामिल हैं।

वहीं, ग्रुप सी में रीवा, सतना जबलपुर, नरसिंहपुर, सिंगरौली, सीधी, पन्ना, सागर, शहडोल, कटनी, छतरपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, उमरिया , डिंडोरी, छिंदवाड़ा, और दमोह जिले को रखा गया है।

गौरतलब है कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1837 नये मामले इंदौर में आये, जबकि भोपाल में 1836, ग्वालियर में 1198 एवं जबलपुर में 799 नये मरीज मिले हैं। प्रदेश में कोरोना रिकवरी दर 23 प्रतिशत बनी हुई है। लगातार बढ़ते कोरोना के केस प्रदेश सरकार को हैरत में डाल दिया। सरकार ने प्रशासन ज़िले में  सख़्ती करने का निर्देश दिया