इतिहास गवाह है, गद्दार की पीढियां भी गद्दारी करती है, सिंधिया ने कांग्रेस से गद्दारी की: दिग्विजय सिंह

पार्वती नदी पर बन रहे बांध के कारण डूब प्रभावित क्षेत्रों के लोगों से मिलने पहुंचे थे दिग्विजय सिंह, ग्रामीणों से बोले- मैं आपके साथ हमेशा खड़ा हूं, सरकारी रेट से चार गुना मुआवजा देने की मांग

Updated: Dec 05, 2021, 01:28 PM IST

इतिहास गवाह है, गद्दार की पीढियां भी गद्दारी करती है, सिंधिया ने कांग्रेस से गद्दारी की: दिग्विजय सिंह

गुना। मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तीखा हमला बोला है। सिंह ने खुले तौर पर कहा है कि सिंधिया ने कांग्रेस से गद्दारी की है। उन्होंने सिंधिया राजवंश पर निशाना साधते हुए कहा कि यदि कोई एक व्यक्ति गद्दारी करता है तो उसकी पीढियां भी गद्दारी करती है।

दरअसल, दिग्विजय सिंह बांध बनने की वजह से डूब प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं। इसी कड़ी में शनिवार को राज्यसभा सांसद गुना जिला अंतर्गत मकसूधनगढ विधानसभा के ग्राम रघुनाथपुरा पहुंचे थे। यह गांव पार्वती नदी बांध परियोजना के कारण डूबने के कगार पर है। यहां ग्रामीणों के समर्थन में आयोजित आमसभा के दौरान सिंह ने मांग किया कि जिन किसानों की जमीन डूब में जा रही है, उन्हें चार गुना अधिक मुआवजा दिया है। सिंह ने इस दौरान ग्रामीणों से कहा कि यदि कांग्रेस की सरकार होती तो यह नौबत ही नहीं आती।

यह भी पढ़ें: इंस्टाग्राम पर सिंधिया हुए श्रेया अरोरा, हैकरों ने बदला नाम, कांग्रेस बोली- लोकप्रियता बढ़ाने के लिए श्रीमंत श्रेया हो गए

कांग्रेस नेता ने कहा, 'कांग्रेस की सरकार तो बन गई थी। लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया चले गए पार्टी छोड़कर और 25-25 करोड़ रुपए ले लिए एक-एक विधायक का। कांग्रेस के साथ गद्दारी कर गए। ये किसने सोचा था। जनता ने तो कांग्रेस की सरकार बनवा दी थी। इतिहास गवाह है। यदि एक व्यक्ति गद्दारी करता है, तो उसकी पीढ़ी दर पीढ़ी गद्दारी पे गद्दारी करती है। भाई, सोच समझ के गद्दारी करना।'

दिग्विजय सिंह राजगढ़ भी गए थे। राजगढ़ जिले की ब्यावरा विधानसभा क्षेत्र के कई गांव डूब प्रभावित हैं। सिंह ने यहां तोडी गांव में आयोजित आमसभा में भी हिस्सा लिया। राजगढ़ में उन्होंने पंचायत चुनाव के रोटेशन सिस्टम पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा, 'पंचायत चुनाव में पूर्ण रूप से कानूनी तौर पर गलत काम हुआ है। कानून के तहत महिलाओं का आरक्षण रोटेशन से होता है, जो नहीं हुआ। जो सीट महिलाओं के लिए आरक्षित थी, वही फिर से है, जबकि रोटेशन पद्धति के अनुसार एक तिहाई सीटों पर महिलाओं के लिए आरक्षण में बदलाव किया जाना था।'

यह भी पढ़ें: MP: महामहिम के गले में भाजपा का पट्टा, संवैधानिक मूल्यों की अवहेलना के लगे आरोप

दिग्विजय सिंह के साथ इस दौरान चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह, राघौगढ़ विधायक जयवर्द्धन सिंह, ब्यावरा विधायक रामचंद्र दांगी, ब्यावरा के पूर्व विधायक पुरुषोत्तम दांगी, राजगढ विधायक बापू सिंह तंवर समेत दर्जनों स्थानीय कांग्रेस नेता मौजूद थे।