दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज को लिखा पत्र, लघु उद्योग भारती को गोविंदपुरा भोपाल में दी जमीन का आवंटन निरस्त करने की मांग

गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया एसोसिएशन की जमीन को लघु उद्योग भारती को देने के मामले में दिग्विजय ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, याद दिलाया कि हाई कोर्ट ने कुशाभाई ठाकरे ट्रस्ट के अलॉटमेंट को गैरकानूनी बताते हुए किया था रद्द, पार्क को भव्यतम बनाने की मांग

Updated: Jul 13, 2021, 06:36 PM IST

दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज को लिखा पत्र, लघु उद्योग भारती को गोविंदपुरा भोपाल में दी जमीन का आवंटन निरस्त करने की मांग

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने लघु उद्योग भारती को गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया भोपाल में दी गई जमीन का आवंटन निरस्त करने की मांग की है। इसके लिए दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को पत्र लिखा है। उन्होंने इस पार्क को भव्य बनाए जाने के लिए राशि आवंटन की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि जल्द से जल्द पार्के को भव्यतम बनाने के लिए राशि आवंटित की जाये। दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री को लिखे इस पत्र के साथ गोविंदपुरा इंडस्ट्रीज एसोसिएशन का ज्ञापन भी संलग्न किया है जो एसोसिएशन द्वारा उन्हें सौंपा गया था।

वहीं दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए सवाल किय है क्या गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में बने एक श्रमिक संगठन को जमीन आवंटित करने से पहले लैंड यूज बदलने की इजाजत ली गई थी?  क्या नगर निगम भोपाल से लघु उद्योग भारती ने निर्माण कार्य शुरू करने से पहले परमीशन ली थी ?  और क्या हरे-भरे फलदार और छायादार पेड़ों को काटने की परमीशन वन विभाग, राजस्व विभाग और नगर निगम से ली गई थी?

साथ ही दिग्विजय सिंह ने पत्र में लिखा है कि गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में एक सार्वजनिक पार्क को लघु उद्योग भारती संस्था को आफिस बनाने के लिए 10 हजार वर्ग फुट जमीन आवंटित की जा रही है। उस बगीचे में फलदार और छायादार पेड़ हैं, जिन्हें काटकर संस्था का दफ्तर बनाया जा रहा है। उन्होंने सीएम को याद दिलाया है कि पहले भी कुशाभाऊ ठाकरे ट्रस्ट जो जमीन आवंटित जमीन के आदेश को हाई कोर्ट निरस्त कर चुका है। उन्होंने लिखा है कि 1970 में इस पार्क का निर्माण गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एसोसिएशन द्वारा करवाया गया था। जिसका मेंटेनेंस पिछले 50 वर्षों से किया जा रहा है। एसोसिएशन ने अपने कार्यालय के पीछे बन रहे प्रदर्शनी हॉल में आने वाले विजिटर्स के लिए पार्किंग बनाने के लिए जमीन आवंटन की मांग की थी। लेकिन गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एसोसिएशन को जमीन न देकर लघु उद्योग भारती को अलॉट कर दी गई।

  

इस पार्क में मजदूर लंच के समय खाना खाते हैं। जिसे लेकर एसोसिएशन ने ज्ञापन भी सौंपा था। दिग्विजय सिंह ने याद दिलाया है कि पहले भी कुशाभाई ठाकरे ट्रस्ट को अलॉट की गई 20 एकड़ जमीन के मामले को 2011 में हाईकोर्ट ने गैर कानूनी कहते हुए रद्द करदिया था।

और पढ़ें: दिग्विजय सिंह के प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने चलाया वॉटर कैनन, कांग्रेस बोली- ब्रिटिश राज की याद दिला दी

करोड़ों की जमीन कुशाभाऊ ठाकरे ट्रस्ट को महज 25 लाख रूपए में दे दिया गया था। अब लघु उद्योग भारती को प्रदेश सरकार 10 हजार वर्ग फीट जमीन केवल 1 रूपये में दे रही है। उन्होंने कहा है कि क्या यह मामला हाईकोर्ट की अवमानना का नहीं है ? पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि अगर फिर भी आपको अपने विवेक से लघु उद्योग भारती को जमीन देना है तो अचारपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में चाही गई जमीन अलॉट कर दें। उससे गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया एसोसिएशन और कांग्रेस को भी कोई आपत्ति नहीं होगी।

और पढ़ें: दिग्विजय सिंह के साथ पुलिसिया बर्बरता के खिलाफ भोपाल के सड़कों पर दिखा जनाक्रोश

दिग्विजय सिंह ने याद दिलाया है कि इस पार्क में विभिन्न मुख्य मंत्रियों ने अपने-अपने कार्यकाल में वृक्षारोपण किया है। ऐसे घने पेड़ों को काटना और जलाना कहां तक उचित है।

और पढ़ें: दिग्विजय सिंह के साथ पुलिसिया बलप्रयोग पर भड़के कमलनाथ, बोले- मत भूलो कल के बाद परसों भी आता है

दिग्विजय सिंह ने मांग की है कि लघु उद्योग भारती को गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया भोपाल किया गया अलॉटमेंट निरस्त कर पार्क को और भव्यत्म बनाया जाने के लिए राशि आवंटित हो।