MP के 19 निकायों के चुनाव परिणाम आज, 1144 प्रत्याशियों के भाग्य का होगा फैसला

मध्य प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुई 19 निकायों के लिए वोटिंग की काउंटिंग आज है। इसमें 1144 पार्षद प्रत्याशियों के किस्मत का फैसला आज सामने आ जाएगा।

Updated: Jan 23, 2023, 08:28 AM IST

MP के 19 निकायों के चुनाव परिणाम आज, 1144 प्रत्याशियों के भाग्य का होगा फैसला

भोपाल। मध्य प्रदेश में हुए 19 निकायों के चुनाव की मतगणना आज होनी है। सभी 5 जिलों के 19 नगरीय निकायों के 343 वार्डों के चुनाव परिणाम आज सामने आएंगे। इसी के साथ 1144 पार्षद प्रत्याशियों के भविष्य का फैसला भी होगा। इन 19 निकायों में सबसे अधिक नजरें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के राधौगढ़ पर टिकी है, क्योंकि अब तक बीजेपी दिग्विजय सिंह के गढ़ को भेद नहीं सकी है।

मध्य प्रदेश में राघोगढ़ विजयपुर, जैतहारी, ओंकारेश्वर, बड़वानी, सेंधवा, खेतिया, पानसेमल, पलसूद, राजपुर, अंजड़, धार, मनावर, पीथमपुर, धरमपुरी, धामनोद, कुक्षी, राजगढ़, सरदारपुर और डही निकाय के लिए चुनाव हुए थे। 20 जनवरी को हुए मतदान में में 67.9 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का उपयोग किया था। सर्वाधिक 80 प्रतिशत मतदान अनूपपुर के जैतहारी और बड़वानी के राजपुर में रहा था। पार्षद पद का चुनाव होने के बाद नगरीय विकास एवं आवास विभाग अध्यक्ष पद के लिए कलेक्टरों को चुनाव कराने के निर्देश देगा। इस बार अध्यक्ष के चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली यानी पार्षदों के बीच से कराए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: MP कांग्रेस की नई टीम घोषित, 155 नेताओं को मिली जगह, 21 सदस्यीय पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी का भी गठन

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले ये आखिरी नगरीय निकाय चुनाव है। पिछले साल संपन्न हुए निकाय चुनावों में BJP खराब प्रदर्शन के साथ 16 में से केवल 9 मेयर सीट ही बचा पाई थी। शेष 5 कांग्रेस, 1 आप और एक निर्दलीय के खाते में चली गई है। नगर पालिकाओं में भी पहले से कब्जे वाले शहरों में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में विधानसभा चुनाव से पहले ये बीजेपी के लिए रिकवरी और कांग्रेस लिए टेस्टिंग वाल चुनाव माना जा रहा है। 

सभी की निगाहें राघौगढ़ नगरपालिका के नतीजों पर है। राघौगढ़ पर हमेशा से ही पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का आधिपत्य रहा है। उनके इस गढ़ को भेद पाने में बीजेपी अभी तक के चुनावों में नाकाम रही है। पिछले दो बार से राघौगढ़ जितने के लिए बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। साल 2018 में जब यहां चुनाव हुए थे तब कांग्रेस के 20 पार्षद चुनाव जीतकर आए थे, वहीं बीजेपी 4 सीटों पर सिमटकर रह गई थी। जबकि भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रभात झा जैसे दिग्गजों ने प्रचार किया था। 

इस बार भी बीजेपी के कई मंत्रियों ने यहां आकर प्रचार प्रसार किया। बीजेपी का दावा है कि इस बार वो राघौगढ़ की 15 से ज्यादा वार्डों पर जीत दर्ज करेगी। जबकि कांग्रेस इस बात को लेकर आश्वस्त नजर आ रही है कि 24 में सभी सीटों पर उसका कब्जा रहेगा। हालांकि आज अब से थोड़ी देर बाद चुनाव परिणाम सामने आने के बाद ही तय होगा कि किसके पाले में कितनी सीट गई। लेकिन विधानसभा चुनाव से ठीक पहले यह चुनाव दोनों पार्टियों के लिए बेहद अहम है।