चुनाव के कारण होता है भ्रष्टाचार, निर्वाचन आयोग को विचार करना चाहिए: जस्टिस एसके पालो

उपलोकायुक्त ने कहा कि चुनाव में बहुत सारे पैसों की जरूरत होती है। लेकिन कमाई का कोई साधन नहीं है। वहीं से करप्शन के बीज डल जाते हैं।

Updated: Nov 05, 2022, 10:15 AM IST

चुनाव के कारण होता है भ्रष्टाचार, निर्वाचन आयोग को विचार करना चाहिए: जस्टिस एसके पालो

भोपाल। भ्रष्टाचार से लड़ने वाली राज्य की सबसे प्रमुख संस्था लोकायुक्त में पदस्थ उपलोकायुक्त जस्टिस एसके पालो ने चुनाव को ही भ्रष्टाचार के लिए जिम्मेदार करार दिया। जस्टिस पालो ने कहा कि कोई राजनीतिक दल जब चुनाव लड़ता है, तो उनको बहुत सारे पैसों की जरूरत होती है। लेकिन उनके पास कमाई का कोई साधन नहीं है। खर्च तो वे बहुत करते हैं। यहीं से करप्शन के बीज डल जाते हैं। 

जस्टिस पालो सीबीआई द्वारा सतर्कता सप्ताह के तहत आयोजित कार्यक्रम करप्शन फ्री इंडिया फॉर डेवल्प्ड नेशन के मुख्य अतिथि थे। इस कार्यक्रम में सीबीआई के जॉइंट डायरेक्टर रमनीश गिर, भोपाल ब्रांच के एचओडी डीआईजी प्रमोद कुमार मांझी, सीपीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर जेआर मीणा सहित तमाम केंद्रीय कार्यालयों के विभाग प्रमुख मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा को लेकर एमपी कांग्रेस की तैयारियां पूरी, कमलनाथ ने इन नेताओं को सौंपी जिम्मेदारी

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वे किसी खास राजनीतिक दल के बारे में बात नहीं कर रहे हैं। उपलोकायुक्त ने कहा कि सिस्टम से इस दिक्कत को कैसे हटाएंगे इस पर चुनाव आयोग को विचार करना चाहिए। 

जस्टिस पालो ने ये भी कहा कि करप्शन से सबसे ज्यादा पीड़ित आम आदमी है। करप्शन के चलते ही देश की अर्थव्यवस्था को भी बहुत नुकसान होता है। उदाहरण के लिए आप समझें कि बड़ी बड़ी कंपनियां जो यहां फैक्ट्री लगाती है, लेकिन कई कंपनियां आने से इसलिए इंकार कर देती है क्योंकि करप्शन है। करप्शन फ्री करने से देश की अर्थव्यवस्था को भी बहुत फायदा होगा।