12,500 रु महीना कमाने वाला निकला करोड़ों का आसामी, सहायक प्रबंधक के यहां EOW का छापा

शिवपुरी में सहकारी समिति के सहायक प्रबंधक के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की मिली थी शिकायत, EOW ने दर्जनभर मकान, फ्लैट, दुकान, जमीन, सोने के गहने, कैश और कई महंगी गाड़ियों का खुलासा

Updated: Oct 07, 2021, 05:56 PM IST

12,500 रु महीना कमाने वाला निकला करोड़ों का आसामी, सहायक प्रबंधक के यहां EOW का छापा
Photo Courtesy: Naidunia

शिवपुरी। गुरुवार सुबह आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो याने EOW ने सहकारी साख समिति के सहायक प्रबंधक के यहां छापा मार कार्रवाई की। माधुरी शरण भार्गव के यहां छापे में करोड़ों रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। आय से अधिक संपत्ति मामले के आरोपी के यहां से दर्जनों मकान, फ्लैट, दुकान, अलग-अलग जगहों पर कृषि भूमि के दस्तावेज मिले है। उसके घर से 50 हजार कैश, बड़ी मात्रा में सोने- चांदी के गहने मिलने की बात सामने आई है।

आरोपी अफसर ने मकान और जमीन अपनी पत्नी बेटे समेत अन्य रिश्तेदारों के नाम खरीद रखे हैं। उसके घर से कई लग्जरी गाड़ियां, कई दो पहिया गाड़ियां बरामद हुई है।1995 में असिस्टेंट सेल्समैन के तौर पर माधुरी शरण भार्गव ने 500 रुपए में नौकरी की शुरूआत की थी। वर्तमान में उन्हें सहायक प्रबंधक के तौर पर 12 हजार 500 रुपए महीना वेतन मिलता है।

माना जा रहा है कि अब तक सर्विस में करीब 30 लाख रुपए कमाए हैं। लेकिन अथाह सम्पत्ति मिलना कई सवाल खड़े करती है। EOW ने जब आरोपी समित प्रबंधक के संपत्ति का हिसाब मांगा तो वे कमाई का कोई ब्यौरा नहीं दे पाए। दरअसल माधुरी शरण भार्गव किसानों की फसल समिति के जरिए खरीदते हैं। माना जा रहा है कि उसने यहां भ्रष्टाचार कर इतनी संपत्ति जोड़ी है। आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो मामले की जांच में जुटा है।