न्याय नहीं मिलने से पानी टंकी पर चढ़ा परिवार, प्रशासन की ओर से मनाने की कोशिश जारी

भोपाल के गोविंदपुरा थाना क्षेत्र स्थित कस्तूरबा नगर इलाके में रितेश नामक शख्स अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ पानी टंकी पर चढ़ गया, परिवार अपनी ज़मीन पर कब्जा हटाने की मांग कर रहा है, तीन महीने पहले भी यह परिवार मिसरोद में पानी टंकी पर चढ़ गया था

Publish: Dec 12, 2021, 11:07 AM IST

न्याय नहीं मिलने से पानी टंकी पर चढ़ा परिवार, प्रशासन की ओर से मनाने की कोशिश जारी
Photo Courtesy: Naidunia

भोपाल। जमीन पर कब्जा हटाने के लिए न्याय की गुहार लगा रहा एक परिवार शनिवार को पानी टंकी पर चढ़ गया। रितेश नामक युवक अपनी पत्नी सीमा और दो बच्चों के साथ भोपाल के गोविंदपुरा स्थित कस्तूरबा नगर में पानी की टंकी पर चढ़ गया। शनिवार शाम से ही यह परिवार पानी की टंकी पर चढ़ा हुआ है। परिवार का कहना है कि अगर उन्हें न्याय नहीं मिला, तो पूरा परिवार एक साथ टंकी से कूदकर जान दे देगा। 

शनिवार शाम करीब पांच बजे भोजपुर का रहने वाला यह परिवार कस्तूरबा नगर की टंकी पर चढ़ गया। स्थानीय लोगों को आते जाते देख परिवार ने यह कहना शुरू कर दिया कि अगर उनके साथ न्याय नहीं हुआ तो पूरा परिवार टंकी से कूद जाएगा। इतना कहते ही हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने तत्काल प्रभाव से पुलिस को इस बात की जानकारी दी। वहीं स्थानीय लोगों की भीड़ भी मौके पर जुट गई। 

यह भी पढ़ें: उज्जैन: शादी से लौट रहे युवक का जला शव बरामद, साथ गए दो दोस्त भी घायल, दोस्तों की भूमिका संदिग्ध

मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने रितेश और उसके परिवार को खूब समझाने की कोशिश की। वहीं स्थानीय लोगों लागतार रितेश और उनके परिवार से नीचे आने का आग्रह करते रहे। लेकिन संपूर्ण परिवार न्याय की मांग पर अड़ा रहा। पीड़ित परिवार ने अपनी रात भी पानी की टंकी पर ही गुजारी। पिछले 18 घंटे से पीड़ित परिवार पानी टंकी के ऊपर है। परिवार को मनाने में प्रशासन के पसीने छूट गए हैं। 

पीड़ित परिवार इससे पहले भी पानी की टंकी पर चढ़ चुका है। अगस्त महीने में भी अपनी ज़मीन पर कब्जा हटाए जाने की मांग को लेकर यह परिवार मिसरोद में पानी टंकी पर चढ़ गया था। हालांकि उस दौरान पानी टंकी पर करीब नौ घंटे गुजारने के बाद परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन देकर नीचे उतार लिया गया था। लेकिन तीन महीने बाद भी न्याय नहीं मिलने के कारण पीड़ित परिवार एक बार फिर पानी टंकी पर चढ़ गया। 

यह भी पढ़ें : आखिर कांग्रेस एमएलए क्यों जुटा रहे राम मंदिर के लिए चंदा

रायसेन के रहने वाले परिवार का आरोप है कि धनंजय सिंह नामक एक व्यक्ति ने औबेदुल्लागंज स्थित उनकी जमीन पर कब्जा जमा लिया है। जमीन पर कब्जा हटाने की मांग को लेकर उन्होंने पुलिस से गुहार भी लगाई। लेकिन पुलिस ने आरोपी पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की। उल्टा पीड़ित रितेश पर ही मुकदमा दर्ज करा दिया गया। पीड़ित परिवार का यह आरोप है कि जब भी उनके परिवार का कोई सदस्य ज़मीन पर जाता है तो उसके साथ मारपीट की जाती है। शनिवार को भी रितेश की बेटी के साथ मारपीट की गई।