IPL Betting: इंदौर में 6 सट्टेबाज़ गिरफ्तार, अलग फ्लैट लेकर कर रहे थे काली कमाई

IPL Betting Racket In MP: भोपाल के बाद अब इंदौर में सट्टेबाज़ी का पर्दाफाश, आरोपियों के पास से 19 मोबाइल फोन, एक लैपटॉप बरामद

Updated: Oct 10, 2020, 03:29 PM IST

IPL Betting: इंदौर में 6 सट्टेबाज़ गिरफ्तार, अलग फ्लैट लेकर कर रहे थे काली कमाई
Photo Courtesy : Patrika

इंदौर। शुक्रवार रात इंदौर पुलिस ने आईपीएल मैचों के दौरान सट्टेबाज़ी करने वाले एक गिरोह को अपनी गिरफ्त में लिया है। क्राइम ब्रांच ने 6 लोगों को अवैध रूप से सट्टेबाज़ी करने लिए अपनी गिरफ्त में लिया है। आरोपियों के पास लैपटॉप, मोबाइल समेत कई तकनीकी उपक्रम बरामद हुए हैं। 75 हज़ार रुपए की नकदी भी पुलिस ने आरोपियों के पास बरामद की है। हैरानी भरी बात यह है कि आरोपियों ने आईपीएल मैचों के दौरान सट्टेबाज़ी करने के लिए अलग से फ्लैट ले रखा था।  

प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपियों ने सट्टेबाज़ी का कारोबार चलाने के लिए इंदौर की शिव सागर कॉलोनी में एक 2 बीएचके फ्लैट भी ले रखा था। सट्टेबाज़ी की सूचना मिलने पर जब पुलिस ने शिव सागर कॉलोनी के फ्लैट नंबर 91 में जब दबिश दी, उस दौरान वे लोग आईपीएल का मैच देख रहे थे और ऑनलाइन सट्टेबाज़ी कर रहे थे। आरोपी फोन के ज़रिए लोगों से संपर्क साध कर लोगों से ऑनलाइन पैसों की लेन देन कर रहे थे। 

और पढ़ें: IPL 2020: आईपीएल पर मंडराया मैच फिक्सिंग का साया, बीसीसीआई के एंटी करप्शन यूनिट ने की पुष्टि

पुलिस ने आरोपियों के पास से 19 मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, 1 एलईडी के साथ साथ 75 हज़ार रुपए की नकदी बरामद की है। पुलिस को आरोपियों के पास से एक रजिस्टर भी बरामद हुआ है जिसमें 8 लाख रुपए से ज़्यादा की लेन देन का रिकॉर्ड दर्ज है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया है कि ये यहां मैच के भाव के आधार पर कीमत तय कर, लोगों से सट्टे का ऑनलाइन लेन-देन कर हार-जीत का दांव लगाकर अवैध कारोबार कर रहे थे। आरोपियों ने यह भी स्वीकारा कि उन्होंने फ्लैट भी इसीलिए लिया था। 

और पढ़ें : आईपीएल मैचों पर ऑनलाइन सट्टा खिलाने वाला बुकी भोपाल में गिरफ्तार

इससे एक दिन पहले भोपाल पुलिस ने भी दीपक जैन नामक एक बुकी को गिरफ्तार किया है। उसके पास से लगभग चार लाख रुपए की लेन देन का खुलासा हुआ है। पुलिस ने उसके पास से 22 हज़ार रुपए की नकदी बरामद की है। बुकी दीपक जैन ने आरके नामक एक व्यक्ति के नाम का खुलासा किया है जो आईपीएल मैचों के दौरान मुंबई और नागपुर से सट्टेबाज़ी के कारोबार पर नज़र रखता है। उसी से दीपक जैन ने आईपीएल मैचों की 5 लाख रुपए तक की लिंक ली थी और राजधानी में ऑनलाइन सट्टा का कारोबार चला रहा था।  

और पढ़ें:  Cricket match fixing : फिल्मों की तरह क्रिकेट में भी सब फिक्स !

क्रिकेट के खेल में सट्टेबाजी का चलन काफी लंबे समय से चले आ रहा है। सट्टेबाजी के तार ही आगे चल कर मैच फिक्सिंग तक पहुंचते हैं। यह एक खुला राज़ है कि हर शहर में क्रिकेट के खेल के दौरान सट्टेबाजी होती है। यह बिल्कुल जुए के खेल जैसा है। एक पूरा गिरोह इसके पीछे काम करता है। खास तौर पर आईपीएल मैचों के दौरान कहीं लाखों तो कहीं करोड़ों रुपए की सट्टेबाजी होती है। जिसमें लोग खेल से पहले और खेल के दौरान दांव लगाते हैं। सट्टेबाजी के दौरान अठन्नी, चवन्नी और एक पैसा जैसे कोड वर्ड का इस्तेमाल किया जाता है। चवन्नी का मतलब 25 हज़ार, अठन्नी का मतलब 50 हज़ार तो एक पैसा का मतलब होता है कि एक लाख रुपए किसी एक दांव पर लगाए जाएंगे।