मंडला में NSUI कार्यकर्ता की बेरहमी से हत्या, बजरंग दल का नगर प्रमुख रह चुका है आरोपी

मध्य प्रदेश के मंडला में NSUI कार्यकर्ता अभिषेक ज्योतिषी की हत्या से इलाके में तनाव, 20-25 की संख्या में आए दबंगों ने घर के पास ही तलवार से जान ले ली, कांग्रेस बोली- आरोपियों को सत्ताधारी दल का संरक्षण प्राप्त है

Updated: Oct 22, 2021, 09:49 PM IST

मंडला में NSUI कार्यकर्ता की बेरहमी से हत्या, बजरंग दल का नगर प्रमुख रह चुका है आरोपी

मंडला। मध्य प्रदेश के मंडला जिले में NSUI कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि 20-25 की संख्या में आए स्थानीय दबंगों ने घर से उठाकर एनएसयूआई कार्यकर्ता अभिषेक ज्योतिषी को तलवार से काट डाला। मामले का मुख्य आरोपी बजरंग दल का नगर प्रमुख रह चुका है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि अभिषेक के हत्यारों को सत्तारूढ़ दल का संरक्षण प्राप्त है, इसलिए पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार देर रात अभिषेक ज्योतिषी के घर दो दर्जन बदमाश धारदार हथियार लेकर पहुंचे। इस दौरान घर में अभिषेक नहीं था तो वे उसकी बहन पूजा व मां के साथ बदसलूकी करने लगे। आरोपियों ने अभिषेक की बहन के गर्दन पर तलवार रख अभिषेक और उसके छोटे भाई आनंद को बुलाने के लिे दबाव बनाया। बहन का फोन आने के बाद जब दोनों भाई घर पहुंचे तो वहां बदमाशों को देख वे डर गए। छोटे भाई आनंद ने उन्हें घर से बाहर निकलने को कहा तो आरोपियों ने धारदार हथियारों से हमलाकर उसे बुरी तरह जख्मी कर दिया।

यह भी पढ़ें: ग्वालियर में 8वीं की छात्रा से गैंगरेप, दिवाली की शॉपिंग के लिए भिंड से आई थी बच्ची

बताया जा रहा है कि बीच बचाव में जब बड़ा भाई अभिषेक आया तो सभी लोग उसके ऊपर टूट पड़े। इस बीच आरोपियों से बचते हुए भाई आनंद को लेकर पूजा थाने पहुंच तो गई, लेकिन पुलिस घायल अवस्था में आनंद को देखने के बावजूद आधे घंटे तक बैठी रही। इधर अभिषेक को बदमाश घसीटते हुए घर से करीब 500 मीटर दूर लेकर गए और वहां उन्हें मारते पीटते रहे। मंडला एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष कोविंद ठाकुर के मुताबिक, जानकारी होने के बाद भी पुलिस कुछ नहीं कर पायी।

कोविंद ठाकुर के मुताबिक अभिषेक की बहन पुलिस से गुहार लगाती रही कि उसके भाई की जान खतरे में है, वे लोग उसे मार डालेंगे। लेकिन पुलिस ने रात में उसे ढूंढने का भी प्रयास नहीं किया। अगली सुबह अभिषेक का शव नाले में मिला। कोविंद के मुताबिक रात में पुलिस यदि अभिषेक को ढूंढती तो शायद उसे बचाया जा सकता था। मंडला एसपी यशपाल सिंह राजपूत ने कहा की सूचना मिलने पर पुलिस रात भर सतर्क रही।

यह भी पढ़ें: तुम्हारी किस्मत फूटी है कमलनाथ कहकर कांग्रेस के निशाने पर आए शिवराज, लुच्चों की भाषा से हुई तुलना

बता दें कि मृतक के छोटे भाई आनंद की भी हालत नाजुक बनी हुई है। मामले में आनंद ज्योतिषी के बयान पर पुलिस ने बाबूलाल यादव (बजरंग दल के पूर्व नगर प्रमुख), सौरभ कछवाहा, बंटी यादव, जानू मिश्रा व अन्य के खिलाफ नामजद एफआईआर किया है। लेकिन आरोपियों पर पुलिस की हीलाहवाली ही दिख रही है। दो दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस मात्र एक आरोपी, सौरभ कछवाहा को ही गिरफ्तार कर पाई है।

अपराधियों को बीजेपी का संरक्षण: कांग्रेस

एनएसयूआई के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व कांग्रेस विधायक विपिन वानखेड़े ने इस घटना पर दुःख जताते हुए कहा है कि अपराधियों को सत्तारूढ़ बीजेपी का संरक्षण प्राप्त है। वानखेड़े ने बताया कि इन्हीं लोगों ने पिछले साल भी मंडला में एक एनएसयूआई कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि संघ, बीजेपी और बजरंग दल के खिलाफ जो जाता है ये लोग उसकी बर्बर हत्या कर देते हैं ताकि लोगों में उनकी दहशत बनी रहे और उनके खिलाफ कोई आवाज न उठाए।

एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष मंजुल त्रिपाठी ने बताया कि 24 तारीख को वे पीड़ित परिजनों से मिलने मंडला जाएंगे। मंजुल और उनकी अगुवाई में एनएसयूआई की टीम मंडला एसपी से भी मुलाकात करेगी। त्रिपाठी ने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि सभी हत्यारों को जल्द गिरफ्तार नहीं किया जाता है तो एनएसयूआई मंडला सहित पूरे प्रदेश में उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी।