चोर को पकड़कर सीधे गंगा स्नान कराने ले गए पुलिसकर्मी, SP ने भेजा कारण बताओ नोटिस

मध्य प्रदेश पुलिस के जवान उत्तर प्रदेश में एक शातिर चोर को पकड़ने गए, चोर को पकड़कर वे सीधे गंगा स्नान करने पहुंचे, कहा- सोचा दिन शुभ है, सब का पाप कट जाएगा

Updated: Apr 05, 2022, 03:17 PM IST

चोर को पकड़कर सीधे गंगा स्नान कराने ले गए पुलिसकर्मी, SP ने भेजा कारण बताओ नोटिस

बुरहानपुर। मध्यप्रदेश की बुरहानपुर जिले की पुलिस एक शातिर चोर को पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश गई। यहां चोर उनके हत्थे भी चढ़ गया। लेकिन बजाय उसे थाने लाने के, पुलिसकर्मी सीधे चोर को गंगा स्नान कराने गए। तर्क दिया कि दिन शुभ था, सोचा सब के पाप कट जाएंगे। मामले का खुलासा होने के बाद एसपी ने संबंधित पुलिसकर्मियों को कारण बताओ नोटिस भेजा है।

दरअसल, यह बात तकरीबन डेढ़ महीने पहले की है जो अब मीडिया के सामने आई है। बीते 16 फरवरी को मध्य प्रदेश के बुरहानपुर की लालबाग थाने की पुलिस टीम जिसमें एक सब इंस्पेक्टर केशव पाटिल और आरक्षक शामिल थे यूपी के प्रतापगढ़ एक आरोपी की तलाश में गई थी। यहां वे चोर को पकड़ने में सफल रहे। लेकिन गिरफ्तारी के बाद वहां से सीधे थाने जाने के बजाए प्रयागराज पहुंच गए।

यय भी पढ़ें: सन्यास की उम्र में सेहरा बांध रहे कमलनाथ, कांग्रेस सीएम कैंडिडेट के ऐलान पर नरोत्तम मिश्रा का व्यंग

प्रयागराज में पुलिसकर्मियों ने संगम तट पर चोर ई साथ गंगा स्नान किया। सुबह-सुबह वहां पहुंचे अन्य श्रद्धालुओं ने जब देखा कि पुलिसकर्मियों के साथ एक कैदी हथकड़ी में गंगा स्नान कर रहा है तो वे चौंक गए। इस अजीबोगरीब नजारे को कुछ लोगों ने कैमरे में कैद करने के लिए मोबाइल निकाला तो पुलिसकर्मियों ने उसे बंद करा दिया।

इस बारे में आरोपी पुलिसकर्मियों ने बताया कि एक अपराधी को पकड़ने प्रतापगढ़ गए थे। दिन शुभ है सोचकर गंगा स्नान करने संगम चले गए। सोचा इससे सभी के पाप कट जाएंगे। उन्होंने तर्क दिया कि चोर को कहीं और तो छोड़ नहीं सकते थे। लिहाजा उसे भी साथ लेकर आ गए।

यह भी पढ़ें: भोपाल: MANIT की छात्राओं ने प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा, घटिया खाने को लेकर धरने पर बैठीं 300 छात्राएं

मामले पर बुरहानपुर एसपी राहुल लोढ़ा का कहना है कि जब भी कोई टीम अपराधियों की धरपकड़ के लिए बाहर जाती है तो उसे गिरफ्तारी के बाद सीधे थाने पहुंचना चाहिए। मेरी जानकारी में यह मामला आ चुका है। संबंधित पुलिसकर्मियों को कारण बताओ नोटिस देकर स्पष्टीकरण लिया जा रहा है।