मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय के 5 सीनियर IPS समेत 9 आला अधिकारी कोरोना की चपेट में, EOW के मुख्यालय में भी कोरोना का कहर

मैदानी अमले के बाद PHQ के अफसर भी कोरोना की चपेट में, 5 वरिष्ठ अधिकारियों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, पुलिस मुख्यालय में बढ़ाई गई सख्ती

Updated: Apr 19, 2021, 04:52 PM IST

मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय के 5 सीनियर IPS समेत 9 आला अधिकारी कोरोना की चपेट में, EOW के मुख्यालय में भी कोरोना का कहर
Photo courtesy: Bhaskar

भोपाल। कोरोना वारियर्स कोरोना की चपेट में आते जा रहे हैं। भोपाल के पुलिस मुख्यालय और आर्थिक अपराध शाखा में कोरोना कहर बनकर टूटा है। जिसके बाद दोनों दफ्तरों में सख्ती बढ़ा दी गई है। पुलिस मुख्यालय के कई सीनियर IPS अफसर कोरोना की चपेट में आ गए हैं। जिससे दहशत का माहौल है। भोपाल में तैनात 5 वरिष्ठ IPS अधिकारी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। इनमें ADG भोपाल सांई मनोहर, पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के MD उपेंद्र जैन, लोक अभियोजन के संचालक अन्वेष मंगलम, स्पेशल DG फायर शैलेष सिंह, EOW DG अजय शर्मा कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। पुलिस मुख्यालय में प्रशासन शाखा के IG विवेक शर्मा, IPS नवनीत भसीन महामारी की चपेट में आ गए हैं। वहीं योजना AIG निश्छल झारिया, SAF IG रश्मि अग्रवाल भी कोविड 19 वायरस से संक्रमित मिली हैं।

और पढ़ें: एमपी में कोरोना के खिलाफ़ युद्व में मदद के लिए उतरी सेना, 3 महीने तक गरीबों को मिलेगा फ्री राशन

अब केवल आपातकालीन स्थितियों में ही पुलिस मुख्यालय में प्रवेश मिल सकेगा। यहां आने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 4 लाख 8 हजार 80 हो गई है। कोरोना की इस लहर में 17 दिनों में करीब एक लाख संक्रमित मरीज बढ़े हैं। इस बार कोरोना संक्रमण की रफ्तार 6 गुना ज्यादा हो गई है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की आंकड़ा 75 हजार हो गया है। अस्पतालों में मरीजों के लिए पलंग नहीं मिल रहे हैं। आक्सीजन और कोरोना के लिए उपयोगी दवाओं की कमी हो रही है। जिसके बाद अब मुख्यमंत्री में सेना और अन्य केंद्रीय संस्थानों से मदद मांगी है। उनके अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज की तैयारी की जा रही है। 

और पढ़ें: प्रदेश में 37 ज़िलों में लगेगा ऑक्सीजन प्लांट, कोरोना की पहली लहर में भी हुई थी घोषणा

बता दें की प्रदेश के आरक्षक, इंस्पेक्टर, जिलों के एसपी समेत हजारों हजारों पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। पुलिस का मैदानी अमला सुरक्षा व्यवस्था में लगातार तैनात रहता है। जिसके चलते कोरोना संक्रमित होने की संभावना बढ़ जाती है। खबर है कि अब पुलिस स्टाफ की सुरक्षा के मद्देनजर भोपाल के थानों में ग्लास केबिन बनेंगे। माइक और स्पीकर के जरिए लोगों की फरियाद सुनी जाएगी। सभी थानों में हैंडवॉश, सेनेटाइजर का इंतजाम होगा। वहीं थाना स्टाफ समेत चैकिंग, पेट्रोलिंग स्टाफ को फेस शील्ड लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।