इंदौर ईदगाह पहुंचे दिग्विजय सिंह, शहर काजी को गले लगाया, एकता और भाईचारे का दिया संदेश

ईद के मौके पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि त्योहार सौहार्द बढ़ाते हैं, प्रेम और भाईचारा बढ़ाते हैं, सभी को मिलकर मनाना चाहिए

Updated: May 03, 2022, 01:16 PM IST

इंदौर ईदगाह पहुंचे दिग्विजय सिंह, शहर काजी को गले लगाया, एकता और भाईचारे का दिया संदेश

इंदौर। देशभर में आज हर्षोल्लास के साथ ईद-उल-फितर मनाया जा रहा है।  दो साल बाद फिर मस्जिदों में ईद के नमाज पढ़े गए। इस बार देशवासियों ने दो गज की दूरी से नहीं बल्कि गले लगाकर एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। ईद के मौके पर मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह इंदौर ईदगाह पहुंचे।

राज्यसभा सांसद ने यहां शहरकाजी डा मोहम्मद इशरत अली की आगवानी की और गले लगाकर उन्हें मुबारकबाद दिया। ईद की नमाज के लिए शहरकाजी को 50 वर्ष से चली आ रही परंपरानुसार उनके राजमोहल्ला स्थित निवास से लेकर सदर बाजार लाया गया। खास बात यह है कि इंदौर में हर ईद पर शहर क़ाज़ी को सदर ईदगाह तक सलवाडिया परिवार रथ पर बैठा कर लाता है। सलवाडिया परिवार ही दशहरा पर रावण दहन का कार्यक्रम भी करता है।

यह भी पढ़ें: ईद के दिन जोधपुर में सांप्रदायिक तनाव, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले, इंटरनेट सेवाएं ठप

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने बताया कि यह परंपरा उनके प्रिय मित्र स्व आर सी सलवाडिया जी द्वारा शुरु की गई थी जो उनके पुत्र सत्यनारायण सलवाडिया अब भी निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यही भारत के संस्कार संस्कृति व इतिहास है। हम सब एक हैं। 

दिग्विजय सिंह ने देशवासियों को ईद की मुबारकबाद देते हुए कहा कि त्योहार सौहार्द बढ़ाते हैं। प्रेम और भाईचारा बढ़ाते हैं। सभी को मिलकर इसे मनाना चाहिए। सिंह ने बताया कि ईद के मौके पर वह संयोग से इंदौर में थे और वह जहां भी रहते हैं, ईद मनाने के लिए ईदगाह में जाते हैं।

ईद के मौके पर खरगोन में कर्फ्यू को लेकर सिंह ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि, 'खरगोन में दो सप्ताह बाद भी कर्फ्यू लगा हुआ है। यह शासन प्रशासन की असफलता है। लोगों में सद्भाव बनाना चाहिए। जिन लोगों ने शहर का माहौल बिगाड़ने का काम किया है, चाहे वह हिंदू हो या मुस्लिम उन्हें सख्त सजा मिलनी चाहिए। मैं 10 साल तक मुख्यमंत्री रहा और मैंने अपने कार्यकाल में एक भी सांप्रदायिक घटना नहीं होने दिया।'

यह भी पढ़ें: ईद पर ममता बनर्जी की हुंकार, अच्छे दिन आएंगे, हम डरे नहीं हैं, हम लड़ना जानते हैं

मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारने की घटनाओं पर सिंह ने कहा कि यह सिर्फ महंगाई और बेरोजगारी से ध्यान भटकाने की कोशिश है। उन्होंने सवाल किया कि महंगाई के कारण किसके घर का बजट नहीं बिगड़ रहा है? क्या लोगों की तनख्वाह बढ़ गई है? क्या लोग आर्थिक संकट का सामना नहीं कर रहे। भाजपा सिर्फ असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिशों में लगी हुई।'