गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की पंचायत चुनाव टालने की वकालत, बोले- चुनाव किसी की जिंदगी से बड़ा नहीं है

नरोत्तम मिश्रा में कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका देखते हुए टाले जाएं पंचायत चुनाव, कांग्रेस ने भी किया समर्थन

Updated: Dec 24, 2021, 12:22 PM IST

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की पंचायत चुनाव टालने की वकालत, बोले- चुनाव किसी की जिंदगी से बड़ा नहीं है

भोपाल। मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव टाले जाने की अटकलें हैं। माना जा रहा है कि खुद शिवराज सरकार नहीं चाहती है कि चुनाव आयोजित किए जाएं। इसी बीच अब गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बयान देकर सारी बातें स्पष्ट कर दी है। मिश्रा ने भी पंचायत चुनाव टालने की वकालत की है। हालांकि, दिलचस्प बात ये है कि उन्होंने कोरोना को इसका कारण बताया है।

नरोत्तम मिश्रा ने शुक्रवार सुबह पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि, 'चुनाव किसी की जिंदगी से बड़ा नहीं है। लोगों की जान हमारे लिए पहली प्राथमिकता है। पूर्व का जो अनुभव है, कोरोना काल में अन्य प्रदेशों में जो पंचायत चुनाव हुए उससे काफी नुकसान हुआ था और लोगों की सेहत पर खासा प्रभाव पड़ा था।' मिश्रा ने आगे कहा कि, 'मेरी व्यक्तिगत राय है कि कोरोना की दहशत और आहट को देखते हुए पंचायत चुनाव को टाला जाना चाहिए।'

कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलुजा ने भी नरोत्तम मिश्रा की व्यक्तिगत राय से सहमति जताई है। सलुजा ने कहा है कि, 'चुनाव टाला जाना चाहिए क्योंकि हमने पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और दामोह चुनाव में कोरोना का कहर देखा था।' बता दें कि कल विधानसभा में सर्वसम्मति से संकल्प पास किया गया था कि ओबीसी आरक्षण के बगैर पंचायत चुनाव नहीं होंगे। इसके बाद ही तय हो गया था कि पंचायत चुनाव टाले जाएंगे। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने भी इस बात के संकेत दिए थे।

लेकिन गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने चुनाव टालने के लिए अलग कारण दिया है। उन्होंने कोरोना के कारण चुनाव टालने की वकालत की है। जबकी देशभर में कोरोना के बुरे से बुरे दौर में न सिर्फ चुनाव हुए हैं, बल्कि पीएम मोदी, सीएम शिवराज और खुद नरोत्तम मिश्रा ने भी गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाते हुए अनेकों सार्वजनिक कार्यक्रमों का आयोजन किया है। ऐसे में सवाल ये भी उठ रहे हैं कि कोरोना के कारण जब पंचायत चुनाव रोके जा सकते हैं तो क्या विधानसभा चुनावों पर रोक लगेगी?