बीजेपी की वजह से ओबीसी को नहीं मिल पा रहा है सही आरक्षण : कमलनाथ

दिग्विजय सिंह ने कहा कि हम कमलनाथ जी के नेतृत्व में पंचायती राज कानून के अंतर्गत चुने हुए जनप्रतिनिधियों को ग्राम पंचायतों, जनपद पंचायतों, जिला पंचायतों को जितने अधिकार मिले थे उससे ज्यादा अधिकार देने का प्रयास करेंगे 

Updated: May 20, 2022, 06:45 PM IST

बीजेपी की वजह से ओबीसी को नहीं मिल पा रहा है सही आरक्षण : कमलनाथ
Photo Courtesy: twitter

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मध्यप्रदेश पंचायत प्रकोष्ठ के प्रादेशिक सम्मलेन आयोजित का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी की वजह से ओबीसी को सही आरक्षण नहीं मिल पा रहा है, कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं को कहा कि भाजपा का जो ज़मीन से जुड़ा हुआ व्यक्ति है उसको कोई बोलने नहीं जाता कि तुम यहां जाओ, पर कांग्रेस के लोग इंतजार करते हैं कि कोई आए हमें बोले तभी हम जाएंगे... किसी पर आप निर्भर मत रहिए ये मत कहना कि विधायक आकर करेगा या नेता आकर करेगा, बहुत सारे नेता हैं जिन्हें मैं पूछता हूं कि पिछली बार आपके गांव का क्या रिजल्ट था, आपके वार्ड का क्या रिजल्ट था, दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता है, सबसे बड़ी माला लेकर आएंगे, सबसे ज्यादा ज़िंदाबाद परन्तु अपना गांव हारेंगे, अपना वार्ड हारेंगे।

 

 

पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 1994 में ओबीसी को 27% आरक्षण दिया, 5 बार चुनाव हुए, यदि जो परिसीमन कमलनाथ जी के समय हुआ अगर बीजेपी उसी पर चुनाव करा लेती तो आरक्षण का झगड़ा नहीं आता। 

यह भी पढ़ें...गुना की जनता से जो गलती हुई, महाराज आप बड़े, क्षमा करें....: महेंद्र सिंह सिसोदिया

दिग्विजय सिंह ने कहा कि ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत और जिला पंचायत चुनावों के लिए जिला एवं ब्लॉक स्तर पर ग्रामीण नेताओं की एक समन्वय समिति बनाए ताकि ज्यादा से ज्यादा कांग्रेस के लोग जीतें, भाजपा का दृढ़ता से मुकाबला कीजिए, हमसे बेहतर हिंदू कौन हो सकता है, पंचायत प्रकोष्ठ में एक अलग 11 लोगों की समिति बनाई जाए, पंचायती राज कानून में दिए अधिकारों का पुनःअवलोकन करते हुए, पंचायती राज व स्थानीय निकाय कानून को ओर बेहतर देश में सबसे अच्छा बना सकें और हम कमलनाथ जी के नेतृत्व में चुने हुए जनप्रतिनिधियों को ग्राम पंचायतों, जनपद पंचायतों, जिला पंचायतों को जितने अधिकार मिले थे उससे ज्यादा अधिकार देने का प्रयास करेंगे।

यह भी पढ़ें...सिंधिया के कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री को आया नींद का झोंका, वीडियो वायरल!

इस कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री  दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, विधायक कमलेश्वर पटेल, पंचायत प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डी पी धाकड़ सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने घोषणा की है कि भाजपा एवं शिवराज सरकार के कारण पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनाव में अन्य पिछड़ा वर्ग का आरक्षण 27% से घटकर 14% रह गया है लेकिन कांग्रेस पार्टी नगरीय निकाय चुनाव में पिछड़ा वर्ग के 27 % लोगों को उम्मीदवार बनाएगी 

वहीं पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सरपंच,पंच,जनपद सदस्य ,जनपद अध्यक्ष,जिला पंचायत सदस्य की आरक्षण प्रक्रिया कार्यक्रम और निर्देश सभी जिला कलेक्टरों को दिए, आज आरक्षण की सूचना का प्रकाशन होगा , 25 मई को निकायवार आबादी के हिसाब आरक्षण से किये जायेंगे, 26 मई शाम 4:बजे तक सभी जिला कलेक्टरों को विभाग को आरक्षण संबंधी जानकारी भेजनी होंगी, OBC,SC,ST मिलाकर आरक्षण पचास फीसदी से ज्यादा नहीं होगा।