भाजपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा- मीडियाकर्मी फैला रहे कोरोना, पत्रकार फ्रंटलाइन वर्कर घोषित

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिमान्य पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित कर दिया है। उन्होंने कहा कि जन जोखिम में डाल कर पत्रकार साथी कर रहे काम।

Updated: May 03, 2021, 12:42 PM IST

भाजपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा- मीडियाकर्मी फैला रहे कोरोना, पत्रकार फ्रंटलाइन वर्कर घोषित
Photo courtesy: bhaskar

भोपाल/इंदौर। इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने मीडियाकर्मीयों को लेकर विवादित बयान दिया है। एमवाय अस्पताल में दौरे के दौरान सांसद ने मीडियाकर्मियों को दूर करते हुए कहा कि "तुम्हारे कारण ही कोरोना फैल रहा है।" सांसद की इस टिप्पणी के बाद मीडियाकर्मियों में जमकर रोष है। मीडियाकर्मियों ने सांसद को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर बयान वापस लेकर सार्वजनिक रूप से मीडिया से माफी नही मांगी गई तो तो जल्द रूपरेखा तैयार कर जवाबी कार्यवाई शुरू होगी। इसके लिए वो तैयार रहें। वहीं, कांग्रेस ने पत्रकारों के लिए दिए गए बयान पर माफी मांगने को कहा है। साथ ही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मीडियाकर्मियों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला किया है।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता अरूण यादव ने ट्वीट कर कहा "इंदौर सांसद शंकर लालवानी का शर्मनाक बयान कि मीडियाकर्मी कोरोना फैला रहे है, जबकि हमारे मीडिया के साथी निस्वार्थ सेवा भाव से कवरेज कर रहे हैं, कांग्रेस पार्टी मीडियाकर्मियों को कोरोना वारियर का दर्जा देने की बात करती है। मोदी जी - शिवराज जी को मीडिया से माफी माँगना चाहिए।"

वहीं, आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला लिया है उन्होंने कहा "हमारे पत्रकार मित्र कोविड के खतरनाक काल में अपनी जान जोखिम में डाल कर अपने धर्म का निर्वाह कर रहे हैं। मध्य प्रदेश में सभी अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों को हमने फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला किया है"।


बता दें पूर्वमुख्यमंत्री कमलनाथ ने   सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिख कर पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने की मांग की थी। उन्होंने लिखा था कि "पत्रकार साथी अपनी जान जोखिम में डाल कर इस महामारी में सूचना देने का काम कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें भी फ्रंटलाइन वर्कर में शामिल किया जाना चाहिए।"

गौरतलब है कि इंदौर में  पिछले 24 में 10491 टेस्ट हुए जिनमें से 1787 नए कोरोना संक्रमित मिले। वहीं, 8651 निगेटिव रहे। 32 की रिपोर्ट रिपीट पॉजिटिव रही। बीते कुछ दिनों से यह आंकड़ा लगातार 1800 से ऊपर बना हुआ था। वहीं 8 लोगों की मौत भी हुई है। जिले में अब तक 11 लाख 95 हजार 774 टेस्ट में से अब 1 लाख 16 हजार 280 पॉजिटिव मिले हैं। इनमें से 1 लाख 4 हजार 298 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। जिले में अब 10819 मरीज एक्टिव हैं।