गांधीगिरी से डरकर घुटने पर आए भाजपाई, पुलिस के पीछे दुबके रामेश्वर, कांग्रेस का पलटवार

रामेश्वर शर्मा ने किया स्वागत का नाटक, गांधीगीरी से डरकर पुलिस के पीछे छिपकर चेलों के साथ खाया हलवा पुड़ी, दिग्विजय सिंह को पुलिस द्वारा रोके जान पर यूथ कांग्रेस ने किया बीजेपी पर हमला

Updated: Nov 24, 2021, 04:38 PM IST

गांधीगिरी से डरकर घुटने पर आए भाजपाई, पुलिस के पीछे दुबके रामेश्वर, कांग्रेस का पलटवार

भोपाल। बीजेपी के बड़बोले विधायक रामेश्वर शर्मा की सद्बुद्धि के लिए रामधुन करने जा रहे राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह को पुलिस ने बीच रास्ते में रोक दिया। इसके बाद दिग्विजय सिंह व उनके साथ आए हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर ही 'रघुपति राघव राजा राम' भजन का गान करते दिखे। पुलिस को आगे करने को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा है कि गांधीगीरी ने भाजपाइयों को घुटने पर ला दिया है।

यूथ कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने कहा, 'घुटने तोड़ने की धमकी देने वाले भाजपाई घुटने पर आ चुके हैं। गोडसे के वंशज भाजपाई सस्ती लोकप्रियता के लिए उटपटांग बयानबाजी करते हैं। मीडिया के सामने रामेश्वर शर्मा आमंत्रित करते हैं और जब गांधीजनों का काफिला निकलता है तो पुलिस को आगे कर खुद दुबक जाते हैं। युवा कांग्रेस ने आज उनके घर के सामने खड़े होकर कहा कि हम भी यहीं हैं और हमारे पैर भी यहीं है, तोड़ना है कि पड़ना है तय कर बता दो।' 

त्रिपाठी के आगे कहा कि, 'सरकार ने 'रघुपति राघव राजा राम' गाते गांधीजनों को रोकने के लिए पुलिस को लगा दिया और पुलिस के पीछे दुबके रामेश्वर और उनके चेले हलवा पुड़ी खाते रहे।' उधर रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि हम तो दिग्विजय सिंह और उनके साथियों का इंतजार कर रहे थे, लेकिन वे खुद नहीं आए। हम तो यहां हलवा पूड़ी बनाकर रखे हुए हैं। पुलिस लगाने की बात पर शर्मा ने कहा कि रामभक्तों को कौन रोक सकता है। रामभक्तों के लिए तो खुद भगवान राम रास्ते बनाते हैं।

यह भी पढ़ें: BJP MLA के घर कांग्रेसियों के स्वागत की भव्य तैयारी, दिग्विजय सिंह बोले- घुटने तोड़ने वाले ने घुटने टेके

बता दें कि दिग्विजय सिंह के काफिले के मिंटो हॉल से निकलने से पहले ही रामेश्वर शर्मा के घर की तरफ आने वाले सभी रास्तों पर पुलिस ने बैरिकेड्स लगा रखे थे। पुलिस हेड क्वार्टर से राजभवन जाने वाला रास्ता, युवा सदन से विधानसभा जाने वाला रास्ता, विधानसभा से राजभवन वाला रास्ता, रौशनपुरा से विधायक निवास जाने वाला रास्ता और तमाम ऐसे रास्ते बंद कर दिए गए थे, ताकि कोई कांग्रेस कार्यकर्ता रास्ता बदलकर शर्मा के घर न पहुंच जाए। 

माना जा रहा है कि पुलिस अधिकारियों पर सरकार का दबाव था कि दिग्विजय सिंह के काफिले को शर्मा के घर न जाने दिया जाए। क्योंकि ऐसा होने पर भाजपा की छवि को नुकसान पहुंचता। माना जा रहा है कि मीडिया के सामने दिखावे के लिए ही शर्मा ने सिर्फ टेंट तंबू गड़वाए थे।