BJP, JJP और RSS के लोग शादी से दूर रहें, किसान ने निमंत्रण कार्ड पर छपवाया अनोखा संदेश

झज्जर के किसान ने शादी में आरएसएस और जेजेपी समर्थकों की एंट्री पर लगाई रोक, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ निमंत्रण कार्ड, हरियाणा में भाजपा नेताओं का विरोध जारी

Updated: Nov 25, 2021, 10:59 AM IST

BJP, JJP और RSS के लोग शादी से दूर रहें, किसान ने निमंत्रण कार्ड पर छपवाया अनोखा संदेश

झज्जर। विवादास्पद कृषि कानूनों की वापसी के बाद भी मोदी सरकार के खिलाफ किसानों का आक्रोश कम नहीं हो सका है। आंदोलन के दौरान 700 से ज्यादा किसानों की मौत को लोग भूल नहीं पा रहे हैं। सत्ताधारी दल से जुड़े लोगों के खिलाफ यह आक्रोश अब वैवाहिक कार्यक्रमों में भी देखने को मिल रहा है। हरियाणा के एक किसान ने अपने परिवार के शादी समारोह में बीजेपी, जेजेपी और आरएसएस से जुड़े लोगों की एंट्री पर रोक लगा दी है।

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक विवाह का आमंत्रण कार्ड वायरल हो रहा। इसमें एक अजीबोगरीब संदेश लिखा है। झज्जर के किसान राजेश धनखड़ ने अपने परिवार में होने वाले विवाह के आमंत्रण कार्ड में लिखवाया है कि 'कृप्या BJP, JJP व RSS के लोग इस शादी से दूर रहें।' बुधवार को सर छोटू राम जयंती पर रेवाड़ी के बावल स्थित अंबेडकर पार्क में किसानों को संबोधित करते हुए किसान नेता युद्धवीर सिंह ने मंच से इस कार्ड को दिखाया था। सिंह ने लोगों से BJP, JJP और RSS के विरोध में एकजुट रहने का आह्वान किया था। 

जानकारी के मुताबिक यह विवाह 1 दिसंबर को हरियाणा के झज्जर में होने वाली है। कार्ड छपवाने वाले किसान राजेश धनखड़ विश्व वीर जाट महासभा के अध्यक्ष भी हैं। दरअसल, दिल्ली के बॉर्डर्स पर बीते एक साल से किसान अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान आंदोलन में 700 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है। इसके बावजूद पिछले हफ्ते मोदी सरकार ने कृषि कानूनों को तो वापस लिया लेकिन एमएसपी की गारंटी पर कोई बात नहीं हुई।

यह भी पढ़ें: देश में बढ़ी महिलाओं की संख्या, अब 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाएं हुईं, हेल्थ सर्वे में हुआ खुलासा

ऐसे में कृषि कानूनों की वापसी के बावजूद किसानों का आंदोलन खत्म नहीं हुआ है। बीते एक साल में हरियाणा के किसानों ने बढ़चढ़कर आंदोलन में हिस्सा लिया है। दिल्ली बॉर्डर्स से लेकर राज्य के भीतर भी प्रतिदिन किसान विरोध प्रदर्शन करते हैं। बीते दिनों तो किसानों के विरोध के चलते सीएम मनोहर लाल खट्टर समेत अन्य बड़े नेताओं का घर से निकलना दूभर हो गया था। हरियाणा के किसानों के आक्रोश का आंदाज इस वैवाहिक निमंत्रण कार्ड से लगाया जा सकता है।