लखनऊ एयरपोर्ट पर सीएम भूपेश बघेल का धरना, एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ किया प्रदर्शन

लखीमपुर खीरी को लेकर राजनीति जारी, दोषियों पर नहीं लिया गया कोई एक्शन, कांग्रेस नेताओं को यूपी जाने से रोका गया

Updated: Oct 05, 2021, 02:44 PM IST

लखनऊ एयरपोर्ट पर सीएम भूपेश बघेल का धरना, एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ किया प्रदर्शन
Photo Courtesy: twitter

लखनऊ। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका गया, जिसके विरोध में वे वहीं पर धरना देने बैठ गए। लखीमपुर खीरी कांड से डरी बीजेपी सरकार अब किसी भी कांग्रेसी नेता को उत्तर प्रदेश में कदम नहीं रखने दे रही है। मंगलवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को लखनऊ एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया गया। जबकि मुख्यमंत्री ने वहां तैनात पुलिस अफसरों से साफ तौर पर कहा कि वे लखनऊ जा रहे हैं, लखीमपुर खीरी का उनका कोई कार्यक्रम नहीं है।

मुख्यमंत्री के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से जारी वीडियो में भूपेश बघेल कहते नजर आ रहे हैं कि आपके लखीमपुर में धारा 144 लगी है, मैं वहां नहीं जा रहा हूं। मुझे लखनऊ पीसीसी जाना है कई लोगों से मुलाकात करनी है। इस बीच एक पुलिस अफसर उनसे कहते नजर आते हैं कि आप लखनऊ भी नहीं जा सकते हैं। जिसके बाद छत्तीसगढ़ के मुखिया लखनऊ एयरपोर्ट की फर्श पर ही धरना देने बैठ गए। 

 

 सीएम भूपेश बघेल लखनऊ के लिए दिल्ली से रवाना हुए थे। वे इंडिगो की फ्लाइट से लखनऊ पहुंचे थे। लखनऊ में उनकी एक प्रेस वार्ता और लोकल लीडर्स से मीटिंग थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अंदेशा था कि सरकारी विमान को लखनऊ में उतरने नहीं दिया जाएगा। यूपी सरकार पहले ही उनके लिए आदेश जारी कर चुकी थी। इसलिए वे दिल्ली होते हुए रेग्यूलर फ्लाइट से लखनऊ के लिए रवाना हुए। प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के बाद से ही कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के लिए रणनीति बनाई गई।

और पढ़ें: बिना FIR मुझे हिरासत में रखा है, लेकिन अन्नदाताओं को कुचलने वाला गिरफ्तार क्यों नहीं हुआ: प्रियंका गांधी

हाल ही में अपने एक ट्वीट संदेश के जरिए सीएम भूपेश बघेल ने पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने प्रधानमंत्री को लखीमपुरखीरी चलने का न्योता दिया था। उन्होंने लिखा था कि "आदरणीय मोदी जी, आजादी का अमृत महोत्सव मनाने से पहले आइए एक बार लखीमपुर चलते हैं।' भूपेश बघेल ने लखीमपुर खीरी के दोषियों पर कार्रवाई नहीं होने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया था।

और पढ़ें: 30 घंटे की हिरासत के बाद प्रियंका गांधी गिरफ्तार, थोड़ी देर में कोर्ट में होगी पेशी

वहीं प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा था कि जिस राज्य में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, वहीं पर शासन प्रशासन न्याय से इनकार कर रहा है। कांग्रेस आला कमान ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को यूपी कांग्रेस का पर्यवेक्षक बनाया है। जिसे लेकर भूपेश बघेल यूपी में एक्टिव हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लखनऊ के बाद सीतापुर जाने वाले थे, जहां उनका कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मिलने का कार्यक्रम था।

और पढ़ें: गाड़ी के आगे चल रहे किसानों को एसयूवी से कुचलते हुए निकला मंत्री पुत्र, पहले बोनट फिर ज़मीन और फिर स्वर्ग सिधार गए किसान

वहीं से वे लखीमपुर खीरी जाने वाले थे। लेकिन इससे पहले उन्हें एयरपोर्ट पर ही रोक दिया गया। वहीं दूसरी तरफ 30 घंटे हिरासत में रखने के बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जा रहा है। उन पर धारा 144 के उल्लंघन और शांति भंग करने की कोशिश का आरोप लगा है।