हिमाचल में मिली शानदार जीत के बाद सरकार बनाने की कवायद में कांग्रेस, CM पद की रेस में प्रतिभा सिंह आगे

गुरुवार को घोषित परिणामों में हिमाचल प्रदेश में 5 साल बाद कांग्रेस की सत्ता में वापसी हुई है। 68 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस ने 40 सीटें जीतीं है। वहीं बीजेपी ने महज 25 सीटों पर सिमटकर रह गई।

Updated: Dec 09, 2022, 02:26 PM IST

हिमाचल में मिली शानदार जीत के बाद सरकार बनाने की कवायद में कांग्रेस, CM पद की रेस में प्रतिभा सिंह आगे

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को शानदार जीत मिली है। राज्य की 68 में से 40 सीटों पर कांग्रेस ने कब्जा जमाया है। जीत के अब कांग्रेस पार्टी के सामने राज्य में सरकार गठन करने की चुनौती है। कांग्रेस पर्यवेक्षक सरकार बनाने की कवायद में जुटे हुए हैं। सीएम पद की रेस में पीसीसी चीफ प्रतिभा वीरभद्र सिंह का नाम सबसे आगे चल रहा है।

जानकारी के मुताबिक शिमला में आज दोपहर 3 बजे कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी। बैठक में विधायक दल का नेता चुना जाएगा। बैठक में हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी राजीव शुक्ला, पर्यवेक्षक भूपेश बघेल और भूपेंद्र हुड्डा भी मौजूद रहेंगे। ये भी कहा जा रहा है कि बैठक के दौरान हाईकमान पर फैसला छोड़ने का निर्णय लिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: ये वो गांधी तो नहीं है, पर कुछ तो है जो जोड़ने के लिए कठिन रास्ते पर निकला है

गुरुवार को हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी राजीव शुक्ला ने कहा था कि पार्टी प्रमुख तय करेंगे कि हिमाचल प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा। उन्होंने कहा कि पार्टी राज्य में 10 गारंटी लागू करेगी। उन्होंने आगे कहा, "यह राज्य के लोगों की जीत है। लोगों ने बदलाव के लिए और बेरोजगारी के मुद्दे पर मतदान किया। हमने पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे से मुलाकात की और हमारे अगले कदम के बारे में चर्चा की।"

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने चुनावों में पार्टी की हार के बाद गुरुवार को ही अपना इस्तीफा सौंप दिया था। उन्होंने कहा था, 'मैं पिछले पांच वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री और केंद्रीय नेतृत्व (उनके समर्थन के लिए) को धन्यवाद देना चाहता हूं। हम राज्य के विकास के लिए खड़े रहेंगे। हम अपनी कमियों का विश्लेषण करेंगे और अगले कार्यकाल के दौरान सुधार करेंगे।'