हिमाचल प्रदेश के परवाणु रोपवे में तकनीकी खराबी, हवा में फंसे थे 11 पर्यटक, सभी का सुरक्षित रेस्क्यू

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के परवाणू रोपवे में सोमवार को 11 टूरिस्ट फंस गए, इसमें कुछ महिलाएं भी शामिल थीं, ये सभी पर्यटक थे और उन्हें बचाने के लिए तत्काल रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया और कुछ घंटे बाद रस्सी के सहारे उन्हें बाहर निकाला गया

Updated: Jun 20, 2022, 04:45 PM IST

हिमाचल प्रदेश के परवाणु रोपवे में तकनीकी खराबी, हवा में फंसे थे 11 पर्यटक, सभी का सुरक्षित रेस्क्यू

सोलन। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां ट्रिंबर ट्रेल रोपवे में फंसे सभी 11 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। बाहर आने के बाद सभी पर्यटक पूरी तरह स्वस्थ हैं। दरअसल, यहां केबल कार में 5 घंटे से 11 लोग फंसे थे।

बताया जा रहा है कि परवाणु रोपवे में तकनीकी खराबी के कारण यह घटना हुई। इसके बाद सुरक्षाबलों ने रस्सी के सहारे एक एक कर सभी को बाहर निकाला। स्थानीय पुलिस अधिकारी इस पूरे बचाव अभियान की निगरानी कर रहे थे। 

यह भी पढ़ें: दिल्ली में यूथ कांग्रेस का व्यापक प्रदर्शन, शिवाजी ब्रिज पर रोकी ट्रेन, कनॉट प्लेस इलाके में सड़कों पर बैठे

इससे पहले सोलन से कांग्रेस विधायक कर्नल धनी राम शांडिल ने बताया था कि डीसी से की बात गई है। जल्द सबको सुरक्षित बाहर निकाला जाएगा और जरूरत पड़ने पर सेना की मदद ली जाएगी।

बता दें कि ऐसा ही हादसा 13 अक्टूबर 1992 को हुआ था, जब डॉकिंग स्टेशन के पास हॉलेज केबल टूट गई। इस दौरान 11 यात्रियों को ले जा रही केबल कार पीछे की ओर खिसक गई थी और दहशत में ऑपरेटर नीचे कूद गया था। ऑपरेटर का सिर एक चट्टान से टकराने की वजह से उसकी मृत्यु हो गई थी।

इससे पहले हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस संबंध में ट्वीट किया कि, 'सोलन के परवाणू टिंबर ट्रेल में फंसे पर्यटकों का रेस्क्यू अभियान जारी है। घटना की जानकारी मिलते ही मैं स्वयं मौक़े पर जा रहा हूँ। प्रशासन मौके पर है और एनडीआरएफ व प्रशासन की मदद से जल्द सभी यात्रियों को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया जाएगा।'