वंदे भारत ट्रेन से टकरा कर हुई थी चार भैंसों की मौत, अब उनके मालिक के खिलाफ FIR दर्ज़

रेल अधिकारियों ने कल कहा था कि भैंस मालिक वंदे भारत ट्रेन के टाइम टेबल से वाकिफ नहीं हैं। यही कारण है कि भैंसों का झुंड पटरियों पर आ गया। अब भैंस मालिकों के खिलाफ मुकदमा दायर किया गया है।

Updated: Oct 07, 2022, 01:43 PM IST

वंदे भारत ट्रेन से टकरा कर हुई थी चार भैंसों की मौत, अब उनके मालिक के खिलाफ FIR दर्ज़

अहमदाबाद। पिछले हफ्ते ही शुरू हुई वंदे भारत ट्रेन अहमदाबाद के पास गुरुवार को भैंसों के झुंड से टकरा गई थी। इस हादसे ने चार भैंसों की मौत हो गई, जबकि ट्रेन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था। हादसे के बाद रेल अधिकारियों ने कल कहा था कि भैंस मालिक वंदे भारत ट्रेन के टाइम टेबल से वाकिफ नहीं हैं। यही कारण है कि भैंसों का झुंड पटरियों पर आ गया। लेकिन अब भैंस मालिकों के खिलाफ मुकदमा दायर किया गया है।

मुंबई से आते वक्त अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के नजदीक वटवा और मणिनगर स्टेशन के पास भैंसों के झुंड से टकरा गई थी। रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने शुक्रवार को इस हादसे के लिए भैंसों के मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ प्रवक्ता (अहमदाबाद मंडल) जितेंद्र कुमार जयंत ने कहा, 'आरपीएफ ने अहमदाबाद में वटवा और मणिनगर रेलवे स्टेशनों के बीच वंदे भारत ट्रेन के रास्ते में आने वाली भैंसों के अज्ञात मालिकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।'

यह भी पढ़ें: रसातल में गया रुपया, डॉलर के मुकाबले पहली बार 82 के पार

हैरानी की बात ये है कि कल ही रेलवे के पीआरओ प्रदीप शर्मा ने कहा कि गुजरात में गाय-भैंस पालने वाले वंदे भारत के टाइम टेबल से वाकिफ नहीं हैं। यही वजह है कि भैंसों के झुंड पटरियों पर आ गया। उन्हें जागरूक करने के लिए अब एक अभियान चलाया जाएगा। लेकिन अब अभियान चलाने के बजाए भैंस मालिकों को हादसे का जिम्मेदार मानते हुए रेलवे ने उनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी कर ली है।

भैंस से टकराने के कारण अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त होने के बाद अब इस ट्रेन की मजबूती को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं। चूंकि पिछले हफ्ते जब पीएम मोदी ने इसका उद्घाटन किया था तब ट्रेन की मजबूती को लेकर बड़े बड़े दावे किए गए थे। लेकिन हफ्तेभर बाद ही मवेशियों से टकराने के कारण ट्रेन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। पश्चिम रेलवे (डब्ल्यूआर) ने एक बयान में कहा कि भैंसों से टकराने के बाद क्षतिग्रस्त हो गई सेमी-हाई स्पीड ट्रेन के ड्राइवर कोच के नोज कोन कवर को मुंबई में एक नए कोच से बदल दिया गया है।