स्ट्रेस से स्ट्रेंथ की ओर ले जाता है योग, पीएम मोदी के संबोधन की मुख्य बातें

अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने कार्यक्रम को किया संबोधित, बोले- कोरोना वायरस के दौर में योग ही उम्मीद की किरण

Updated: Jun 21, 2021, 09:45 AM IST

स्ट्रेस से स्ट्रेंथ की ओर ले जाता है योग, पीएम मोदी के संबोधन की मुख्य बातें
Photo Courtesy: The Indian Express

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर आज सुबह देश को संबोधित किया। सातवें योग दिवस पर संबोधन के दौरान पीएम ने कहा कि आज पूरा विश्व जब कोरोना वायरस से जूझ रहा है तब योग ही एक उम्मीद की किरण है। उन्होंने कहा की, 'योग नकारात्मकता से सकारात्मकता का रास्ता। कोई नकारात्मकता हमें तोड़ नहीं सकती। योग हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ की ओर ले जाता है।'

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि, 'भारत के ऋषियों ने, भारत ने जब भी स्वास्थ्य की बात की है, तो इसका मतलब केवल शारीरिक स्वास्थ्य नहीं रहा है। इसीलिए, योग में फ़िज़िकल हेल्थ के साथ साथ मेंटल हेल्थ पर इतना ज़ोर दिया गया है।जब कोरोना के अदृष्य वायरस ने दुनिया में दस्तक दी थी, तब कोई भी देश, साधनों से, सामर्थ्य से और मानसिक अवस्था से, इसके लिए तैयार नहीं था। हम सभी ने देखा कि ऐसे कठिन समय में, योग आत्मबल का एक बड़ा माध्यम बना।' 

पीएम मोदी ने बताया कि दुनिया को एम-योगा ऐप की शक्ति मिलने जा रही है। इसमें अलग-अलग भाषाओं में योग से जुड़े वीडियो होंगे।' उन्होंने कहा, 'जब भारत ने यूनाइटेड नेशंस में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था, तो उसके पीछे हमारी यही भावना थी कि ये योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सुलभ हो। आज इस दिशा में भारत ने यूनाइटेड नेशंस, WHO के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है।'

यह भी पढ़ें: राम मंदिर ट्रस्ट के चंपत राय द्वारा जमीन हड़पने का मामला उजागर करने वाले पत्रकार के खिलाफ 18 धाराओं के तहत FIR

पीएम मोदी ने कहा कि, 'मैं आज योग दिवस पर यह कामना करता हूं कि हर देश, हर समाज और हर व्यक्ति स्वस्थ हो। सब एक साथ मिलकर एक-दूसरे की ताकत बनें। हमारे ऋषियों, मुनियों ने योग के लिए 'समत्वं योग उच्चते', की परिभाषा दी थी। उन्होंने सुख-दुख में समान रहने, संयम को एक तरह से योग का पैरामीटर बनाया था। योग का पहला पर्याय संयम और अनुशासन को कहा गया है। सब उसे अपने जीवन में उतारने का प्रयास भी कर रहे हैं।'

भारत की पहल पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरूआत 7 साल पहले हुई थी। पिछले साल कोरोना महामारी के कारण इसे टाल दिया गया था लेकिन इस बार वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम आयोजित हो रहा है। इस बार योग दिवस की थीम 'योग फॉर वेलनेस' है, जो शारीरिक और मानसिक तंदुरुस्ती के लिए योगाभ्यास पर केंद्रित है।