दिवाली पर जवानों के बीच पहुंचे पीएम मोदी, बोले- एक दीपक आपकी वीरता के नाम

प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी परंपरा के अनुसार सैनिकों के साथ मनाई दिवाली, बोले- नौशेरा के सैनिकों के शौर्य के आगे सारी साजिशें धरी रह गई, सर्जिकल स्ट्राइक में आपकी भूमिका पर गर्व

Updated: Nov 04, 2021, 02:51 PM IST

दिवाली पर जवानों के बीच पहुंचे पीएम मोदी, बोले- एक दीपक आपकी वीरता के नाम
Photo Courtesy: HT

नौशेरा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर साल की तरह ही इस बार भी सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाने पहुंचे। पीएम मोदी ने जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती राजौरी जिले के नौशेरा में जवानों का हौसला अफजाई किया। प्रधानमंत्री ने जवानों के बीच मिठाई बांटकर कहा कि देश में आज शाम एक दीपक उनकी वीरता, शौर्य, पराक्रम, त्याग और तपस्या के नाम जलाया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने नौशेरा में सबसे पहले जवानों की श्रद्धांजलि दी। यहां उन्होंने जवानों से कहा कि वे 130 करोड़ भारतवासियों का आशीर्वाद लेकर आए हैं। पीएम मोदी ने कहा, 'नौशेरा कश्मीर और श्रीनगर का पहरेदार है। आपके भरोसे जनता चैन की सांस सोती है। आप मां भारती के सुरक्षा कवच हैं। नौशेरा में हर युद्ध का, हर षड्यंत्र का जवाब सेना ने वीरता से दिया है. नौशेरा के जवानों के शौर्य के सामने सारी साजिशें धरी की धरी रह गई। भारतीय सेना की ताकत क्या होती है इसका अहसास दुश्मन को शुरुआती दिनों में ही मिल गया था।' 

पीएम मोदी ने इस दौरान सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि, 'उस दौरान नौशेरा की ब्रिगेड ने जो भूमिका निभाई, उससे देश का भारतवासी गौरव से भर उठता है। उस समय मैं हर पल फोन की घंटी पर नजर टिकाए बैठा था। हमारे जवान पहुंचे या नहीं।  हमारे जवान बिना नुकसान के मिशन पूरा करके आए। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी साजिशें होती रहीं, आपलोगों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। नौशेरा के शौर्य का ये सिलसिला ना कभी रुका है, ना कभी झुका है।'

यह भी पढ़ें: दिवाली के दिन जहरीली हुई दिल्ली की हवा, हालात और बदतर होने की आशंका

जवानों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि, 'हमें बदलती हुई दुनिया और युद्ध के बदलते तरीके के अनुरूप अपनी सैन्य क्षमताओं को ढालना और बढ़ाना होगा। जिन सीमावर्ती, तटीय क्षेत्रों में संपर्क एवं संचार की सामान्य सुविधा नहीं थीं, वहां अब सड़कें, ऑप्टिकल फाइबर हैं। इससे सेना की तैनाती की क्षमता और जवानों के लिए सुविधाएं बढ़ती हैं। पहले देश को रक्षा क्षेत्र में मुख्तय: आयात पर निर्भर रहना पड़ता था, लेकिन उनकी सरकार की कोशिशों के कारण स्वदेशी क्षमताओं को बढ़ावा मिला है।'

बता दें कि पीएम मोदी ऐसे समय में नौशेरा पहुंचे हैं, जब पुंछ समेत अन्य इलाकों में हाल के दिनों में आतंकी गतिविधियां बढ़ गई है। हालांकि, इस मुश्किल वक़्त में वहां पहुंचने से निश्चित रूप से सैनिकों का मनोबल बढ़ेगा। पिछले साल दिवाली पर पीएम मोदी राजस्थान के जैसलमेर में सैनिकों के साथ थे, वहीं साल 2019 में उन्होंने कश्मीर के ही राजौरी सेक्टर में दिवाली का जश्न मनाया था।