मंगलवार को सोनिया गांधी से मिलेंगे कैप्टन अमरिंदर, पंजाब कांग्रेस में तकरार बढ़ने की अटकलें तेज़

सोनिया गांधी को कैप्टन अमरिंदर सिंह रिपोर्ट सौंपेंगे, उसके बाद कैप्टन कांग्रेस के तीन सदस्यीय पैनल से भी मुलाकात करेंगे

Updated: Jun 20, 2021, 10:24 AM IST

मंगलवार को सोनिया गांधी से मिलेंगे कैप्टन अमरिंदर, पंजाब कांग्रेस में तकरार बढ़ने की अटकलें तेज़

चंडीगढ़। पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस खेमे में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने दिल्ली पहुंच रहे हैं। कैप्टन और सोनिया की मुलाकात के इस खबर ने पंजाब कांग्रेस की गुटबाजी को एक बार फिर हवा दे दी है। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह और सोनिया गांधी के बीच होने वाली यह मुलाकात इसलिए भी खास है क्योंकि एक महीने के भीतर ही यह दूसरी बार है जब कैप्टन दिल्ली आ रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस अध्यक्ष को पहले रिपोर्ट सौंपेंगे, उसके बाद वे कांग्रेस के तीन सदस्यीय पैनल से भी बातचीत करेंगे। कैप्टन अमरिंदर सिंह इससे पहले खुद राहुल गांधी से दो मर्तबा मिल चुके हैं। 

दरअसल बीते एक महीने से पंजाब कांग्रेस के भीतर चल रही गुटबाजी की खबरें दिल्ली में भी चर्चा का विषय बनी हुई हैं। गुटबाजी को पाटने के लिए कांग्रेस ने तीन सदस्यीय पैनल भी गठित की है, जो पंजाब कांग्रेस के मसले के साथ दो दो हाथ कर रही है। इस पैनल में हरीश रावत, मल्लिकार्जुन खड़गे और जेपी अग्रवाल शामिल हैं। 

यह भी पढ़ें : कांग्रेस नेताओं को कैप्टन अमरिंदर के खिलाफ भड़का रहा है नकली प्रशांत किशोर, पंजाब पुलिस ने शुरू की तलाश

कांग्रेस का यह पैनल अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के कई नेताओं और विधायकों से चर्चा कर चुका है। नवजोत सिंह सिद्धू भी इस पैनल के समक्ष अपनी दलील रख चुके हैं। हालांकि नवजोत सिंह सिद्धू खुले तौर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ कुछ भी बोलने से बच रहे हैं, लेकिन सियासी गलियारों में यह चर्चा है कि पंजाब कांग्रेस इस समय कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के दो खेमों में बंटी हुई है। अगर जल्द ही नाराज़गी की इस खाई को नहीं पाटा गया, तो राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।