Ayodhya: राम मंदिर ट्रस्ट के खाते से 6 लाख की चोरी, क्लोन चेक से उड़ाए पैसे

Shri Ram Janmboomi Teerth Kshetra: लखनऊ के बैंक से दो बार में निकाले कुल 6 लाख रुपए, तीसरे प्रयास में भंडाफोड़

Updated: Sep 11, 2020 08:25 AM IST

Ayodhya: राम मंदिर ट्रस्ट के खाते से 6 लाख की चोरी, क्लोन चेक से उड़ाए पैसे
Photo Courtes: Twitter

अयोध्या। उत्तरप्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते से जालसाजी कर लाखों रुपए उड़ाए जाने की जानकारी मिली है। अपराधियों ने क्लोन चेक के जरिए 2 बार में कुल 6 लाख रुपए उड़ा दिए। वहीं तीसरे प्रयास में जब अपराधियों में 9 लाख 86 हजार निकालने का प्रयास किया तब इस जालसाजी का भंडाफोड़ हुआ।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण हेतु देशभर से करोड़ों रुपए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते में दानस्वरूप मिल रही है। इसी बीच अब जालसाज भी इन रुपयों पर नजर गड़ाए बैठे हैं। राम जन्मभूमि ट्रस्ट के खाते से 6 लाख रुपए की चोरी भी हो गई है। बताया जा रहा है कि अज्ञात अपराधियों ने सबसे पहले 1 सितंबर को उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ की एक बैंक से फर्जी चेक के जरिए ढाई लाख रुपए निकाले। इसके 2 दिन बाद यानी तीन सितंबर को साढ़े तीन लाख रुपए निकाले गए। इस प्रकार दो बार में कुल 6 लाख रुपए की चोरी की गई।

Click: Shri Ram Temple: राम मंदिर का निर्माण शुरू, दान में मांगा तांबा

मामले का भंडाफोड़ तब हुआ जब जालसाजों ने तीसरी बार लखनऊ के ही बैंक ऑफ बड़ोदा में 9 लाख 86 हजार रुपए का चेक लगाया। इस दौरान बैंक ने वेरिफिकेशन के लिए ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय को फोन लगाया। बैंक के अधिकारियों से फोन पर बातचीत के दौरान चंपत राय ने ऐसे किसी भी भुगतान से इंकार कर दिया और पैसे देने के लिए मना कर दिया। 

चंपत राय ने संदेह होने पर खाते की जांच की जिसमें छह लाख रुपए निकाले जाने की जानकारी सामने आई। इस बात की खबर मिलते ही ट्रस्ट के पदाधिकारियों में हड़कंप मच गया। उन्होंने तत्काल इस बात की जानकारी अयोध्या पुलिस को देते हुए अज्ञात अपराधियों के खिलाफ अयोध्या कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया। ट्रस्ट की ओर से दी गई जानकारी के आधार पर अयोध्या पुलिस मामले पर मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल कर रही है।

Click: Ram Temple: अयोध्या में मंदिर बनने की अब तक की कहानी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राम मंदिर ट्रस्ट के खाते से हुई इस जालसाजी का कनेक्शन महाराष्ट्र से है। बताया जा रहा है कि लखनऊ के पंजाब नेशनल बैंक से चेक द्वारा रुपए निकालने के संबंध में जिस भुगतान के बारे में ट्रस्ट ने अनभिज्ञता जाहिर की है वह महाराष्ट्र के किसी खाते में ट्रांसफर किया गया है। फिलहाल इस खाते को तत्काल प्रभाव से सीज कर दिया गया है वहीं पुलिस की एक टीम को लखनऊ और एक टीम को महाराष्ट्र के लिए रवाना किया गया है।