भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने मैसूर पहुंचीं सोनिया गांधी, 6 अक्टूबर को यात्रियों के साथ वॉक करेंगी कांग्रेस अध्यक्ष

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को कर्नाटक के मैसूर पहुंच गईं। वह 6 अक्टूबर को भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगी। उधर दिग्विजय सिंह और जयराम रमेश रूट का मुआयना करने आंध्र प्रदेश गए हुए हैं।

Updated: Oct 04, 2022, 10:36 AM IST

भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने मैसूर पहुंचीं सोनिया गांधी, 6 अक्टूबर को यात्रियों के साथ वॉक करेंगी कांग्रेस अध्यक्ष

मैसूर। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को कर्नाटक के मैसूर पहुंची। वह 6 अक्टूबर को यहां भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगी। लंबे समय बाद सोनिया गांधी पार्टी के किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लेने वाली हैं। इससे कार्यकर्ताओं का उत्साह दोगुना हो गया है। माना जा रहा है कि यात्रा में कांग्रेस अध्यक्ष का शामिल होना यात्रियों के लिए बूस्टर डोज साबित होगा।

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष जयराम रमेश ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि, 'सोनिया गांधी बृहस्पतिवार को यात्रा में शामिल होंगी। दशहरे के कारण चार और पांच अक्टूबर को यात्रा को विश्राम दिया जाएगा और फिर छह अक्टूबर की सुबह यात्रा प्रारंभ होगी।' कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी यात्रा में इसके अगले दिन यानी 7 अक्टूबर को हिस्सा लेंगी, कर्नाटक कांग्रेस ने यह जानकारी दी।

सोनिया गांधी कोडागु के एक रिसॉर्ट में रुकी हुईं हैं। गुरुवार को सोनिया महादेश्वर मंदिर से मांड्या के एम होसपुर गेट तक यात्रा के 29वें दिन कार्यकर्ताओं के साथ वॉक करेंगी। सोनिया पहली बार यात्रा में हिस्सा ले रही हैं क्योंकि मार्च शुरू होने के समय वह मेडिकल चेकअप के लिए विदेश गई थीं। प्रियंका गांधी-वाड्रा शुक्रवार को मांड्या के नागमंगला तालुक के विजडम स्कूल से बेलूर क्रॉस तक की यात्रा में शामिल होंगी।

यह भी पढ़ें: बीजेपी प्रायोजित है प्रशांत किशोर की जन सुराज यात्रा, जेडीयू चीफ ललन सिंह का बड़ा दावा

भारत जोड़ो यात्रा में सोनिया गांधी के शामिल होने से कर्नाटक आगामी विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव पर भी सकारात्मक असर पड़ सकता है। राज्य के पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान सोनिया गांधी चुनाव प्रचार से दूर थीं। हालांकि पार्टी ने यहां एक आंतरिक सर्वेक्षण कराया था। इस सर्वे में निकलकर आया था कि कांग्रेस की तरफ से सोनिया गांधी का प्रचार करना पार्टी के हित में है। उसके बाद बीमार सोनिया गांधी यहां प्रचार के लिए आई थीं। इसका असर भी राज्य में नजर आया था।

उधर भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह और कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख जयराम रमेश आंध्र प्रदेश के कुरनूल में हैं। वे यहां यात्रा का रूट फाइनल करने और उसका मुआयना करने के लिए आए हैं। बता दें कि आंध्र प्रदेश में कांग्रेस अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है। बंटवारे के फ़ैसले के बाद से लोगों ने कांग्रेस से नाराज़गी दिखाते हुए YSR कांग्रेस को अपना समर्थन दिया। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस यहां एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। यात्रा को आगामी चुनावी लड़ाई के लिए पार्टी के बेहतर होने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है।

बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा के तीसरे दिन सोमवार को राहुल गांधी मैसूर के चामुंडी पहाड़ियों के ऊपर स्थित चामुंडेश्वरी मंदिर जा कर पूजा अर्चना की थी। देवी चामुंडेश्वरी मैसूर राजघराने की कुल देवी और कई शताब्दियों से मैसूर की अधिष्ठात्री देवी हैं। मैसूर शहर में दशहरा और भारत जोड़ो यात्रा दोनों को लेकर उत्सव की भावना है। पारंपरिक पोशाक में सजे कलाकारों द्वारा ढोल की थाप और प्रदर्शन के बीच जुलूस के रूप में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ आगे बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें: हमें कोई नहीं रोक सकता, जैसे आज यह बारिश नहीं रोक पाई, भारी बारिश में राहुल का संबोधन, टस से मस नहीं हुए लोग

इससे पहले राहुल गांधी ने रविवार रात यहां मूसलाधार बारिश के बीच एक जनसभा को संबोधित किया था और भीगने के बाद भी अपना भाषण जारी रखा था। उन्होंने यात्रा के माध्यम से भारत को एकजुट करने के अपने संकल्प की घोषणा की। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने सोमवार को मैसूर में वयनाड के सांसद राहुल गांधी के बारिश में भीगने की घटना को ‘यात्रा का निर्णायक क्षण’ बताया।