सुनंदा पुष्कर मौत मामले में सभी आरोपों से बरी हुए शशि थरूर, कोर्ट का जताया आभार

17 जनवरी 2014 को दिल्ली के एक होटल में मृत मिलीं थी थरूर की पत्नी, दिल्ली पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का लगाया था आरोप, एसआईटी जांच में भी मिल चुकी है क्लीन चिट

Updated: Aug 18, 2021, 02:23 PM IST

सुनंदा पुष्कर मौत मामले में सभी आरोपों से बरी हुए शशि थरूर, कोर्ट का जताया आभार
Photo courtesy: DNA India

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर मौत मामले में बड़ी खबर सामने आई है। कोर्ट ने थरूर को सभी आरोपों से बरी कर दिया है। सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 को दिल्ली के एक होटल में मृत पाई गईं थीं। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने थरूर के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया था। एसआईटी जांच में भी शशि थरूर को क्लीन चीट मिल चुकी है।

अंग्रेजी अखबार द हिंदू के मुताबिक शशि थरूर ने इस फैसले के लिए कोर्ट का आभार जताया है। थरूर ने जज को कहा, 'ग्रेटफुल योर ऑनर! पिछले साढ़े सात साल से इस टॉर्चर और दर्द से गुजर रहा था। मैं इस फैसले की सराहना करता हूं।'

यह भी पढ़ें: अफगानिस्तान में फंसे हुए हैं भारतीय नागरिक, 1600 से ज्यादा नागरिकों ने लगाई वतन वापसी की गुहार

सुनंदा पुष्कर मौत मामले में कोर्ट का फैसला बेहद अहम है। दिल्ली की राउत एवेन्यू कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है कि शशि थरूर का सुनंदा पुष्कर की मौत में कोई हाथ नहीं है और उन्होंने पुष्कर को आत्महत्या के लिए नहीं उकसाया था। इसी के साथ शशि थरूर के खिलाफ अब कोई मामला भी नहीं चलेगा। इसके पहले कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और थरूर की तरफ से पेश हुए वकीलों की दलीलें सुनने के बाद 12 अप्रैल को फैसला सुरक्षित रखा था।

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने शशि थरूर के खिलाफ धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) और धारा 498-A (पति या उसके रिश्तेदार द्वारा अत्याचार) के तहत केस दर्ज किया था। इन गंभीर धाराओं में यदि थरूर दोषी पाए जाते तो उन्हें 10 साल तक कैद की सजा भी हो सकती थी। सुनंदा पुष्कर की मौत का मामला काफी हाईप्रोफाइल केस था। ऐम्स की मेडिकल बोर्ड ने कहा था कि सुनंदा की मौत जहर से हुई है। हालांकि, बोर्ड ने यह भी कहा था कि ऐसे कई रसायन हैं जो पेट में जाने या खून में मिलने के बाद जहर बन जाते हैं।

यह भी पढ़ें: तालिबानी हुकूमत में काले दिनों की वापसी, महिलाओं के बारे में पूछने पर ठहाके मारने लगे लड़ाके

दरअसल, जनवरी 2014 में शशि थरूर के आधिकारिक बंगले की साज-सज्जा का काम चल रहा था। इस वजह से थरूर और पुष्कर एक होटल में रह रहे थे। 17 जनवरी की रात होटल में ही सुनंदा पुष्कर मृत पाई गई थीं। शशि थरूर ने मौत की वजह ड्रग ओवरडोज बताई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक सुनंदा के शरीर में ‘एल्प्राज़ोलम’ (एक एंटी-एन्ग्ज़ाइटी ड्रग) की मौजूदगी सामने आई थी। मौत से पहले सुनंदा पुष्कर ने कुछ खाया भी नहीं था और वे लगातार स्मोकिंग कर रहीं थीं। डॉक्टरों ने इसे अचानक और अननेचुरल डेथ बताया था।