भूपेश सरकार गिराने की साजिश, सूर्यकांत को मिला एकनाथ शिंदे बनने का ऑफर, IT अफसरों पर लगे गंभीर आरोप

कारोबारी सूर्यकांत तिवारी ने खुलासा किया है कि उन्हें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने उन्हें कहा तुम कांग्रेस के 40 MLAs को खरीदो और छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री बन जाओ, इस खुलासे के बाद कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी से इस्तीफा मांगा है

Updated: Jul 11, 2022, 05:51 PM IST

भूपेश सरकार गिराने की साजिश, सूर्यकांत को मिला एकनाथ शिंदे बनने का ऑफर, IT अफसरों पर लगे गंभीर आरोप

रायपुर। महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल की सरकार गिराने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। कोयला कारोबारी सूर्यकांत तिवारी ने इस बात की जानकारी दी है। सूर्यकांत के मुताबिक उन्हें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने छत्तीसगढ़ का एकनाथ शिंदे बनने का ऑफर दिया था। इसके लिए उनपर 40 कांग्रेस विधायकों को तोड़ने के लिए दबाव भी बनाया गया।

दरअसल, हाल ही में सूर्यकांत के ठिकानों पर आयकर विभाग की रेड पड़ी थी। इस रेड के बाद उन्होंने जो खुलासा किया है वह चौंकाने वाले हैं। बकौल सूर्यकांत, 'छापे के दौरान आईटी के अफसर बार-बार मुझ पर ये दबाव बना रहे थे कि मैं सीएम हाउस से जुड़े अधिकारी का नाम लूं। मुझपर दबाव बनाया कि मैं किसी प्रकार से अपने व्यवसाय में मुख्यमंत्री कार्यालय की उप सचिव सौम्या चौरसिया का नाम जोड़ दूं और उनके खिलाफ झूठा बयान दूं। आईटी के अफसर छत्तीसगढ़ में तख्तापलट करने की बात भी कह रहे थे।' 

सूर्यकांत ने बताया कि उन्हें अधिकारियों द्वारा मुख्यमंत्री बनाने का प्रलोभन देते हुए उन्हें कहा गया कि उनके 40-45 विधायकों के साथ संबंध है, वो उन्हें लेकर छत्तीसगढ़ में तख्ता पलट कर दें। एकनाथ शिंदे की तरह उन्हें छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री बना दिया जाएगा। हालांकि सूर्यकांत ने साफ इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन की साजिश रची जा रही है, इसके लिए IT विभाग का दुरुपयोग किया गया।

उन्होंने आगे कहा, 'मैं एक कारोबारी हूं अपराधी नहीं। आयकर विभाग की टीम जब सर्च के लिए हमारे घर आई तो अफसरों ने मुझे पीटा। इसका उन्हें कोई हक नहीं है। मुझसे आयकर के अफसरों ने गलत बयान देने काे भी कहा, मगर मैंने नहीं दिए। मैं महात्मा गांधी को मानने वाला छत्तीसगढ़िया आदमी हूं, मेहनत करता हूं। जीवन में तरक्की करना कोई अपराध तो नहीं है। 

यह भी पढ़ें: RSS कार्यकर्ता की शिकायत पर मेधा पाटकर के खिलाफ FIR, डोनेशन में मिले फंड के दुरुपयोग का आरोप

सूर्यकांत के खुलासे के बाद प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस ने इसके लिए। सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराते हुए इस्तीफे की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा, 'बीजेपी केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिश रच रही है। कोयला व्यवसायी सूर्यकांत तिवारी के खुलासे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। विपक्ष की सरकार को अस्थिर करने भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व किसी भी स्तर तक गिर सकता है। कर्नाटक, मध्य प्रदेश, गोवा, मणिपुर, महाराष्ट्र में इसके उदाहरण देखे गए हैं।'

शुक्ला ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की तीन चौथाई बहुमत की सरकार है। कांग्रेस सरकार बढ़िया काम कर रही है। बीजेपी यहां पिछले तीन साल में कांग्रेस से एक भी चुनाव नहीं जीत पाई। नगरीय निकाय, पंचायत चुनाव, चार विधानसभाओं के उप चुनाव में भाजपा को हार मिली है। इससे घबराया भाजपा नेतृत्व छत्तीसगढ़ में भी ED, इनकम टैक्स, CBI के दुरुपयोग करने की योजना में है। बीजेपी कितना भी कर ले छत्तीसगढ़ में उसकी कोशिशें कामयाब नहीं होंगी। जनता भाजपा के इन सारे अलोकतांत्रिक हथकंडों को समझ रही है। 2023 के विधानसभा चुनाव में जनता इसका जबाब देगी।