बांग्लादेश के इस्कॉन मंदिर पर हमला, 200 लोगों की भीड़ ने की तोड़फोड़ और लूटपाट, कई श्रद्धालु घायल

बांग्लादेश की राजधानी ढाका स्थित इस्कॉन राधाकांत मंदिर में तोड़फोड़ और लूटपाट की गई है, ढाका के वारी में 222 लाल मोहन साहा स्ट्रीट पर इस्कॉन राधाकांत मंदिर पर 200 से अधिक लोगों ने गुरुवार को हमला कर दिया

Updated: Mar 18, 2022, 05:29 PM IST

बांग्लादेश के इस्कॉन मंदिर पर हमला, 200 लोगों की भीड़ ने की तोड़फोड़ और लूटपाट, कई श्रद्धालु घायल

ढाका। बांग्लादेश की राजधानी ढाका में कम से कम 200 लोगों की भीड़ ने गुरुवार को होलिका दहन के अवसर पर हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ कर दी। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, यहां इस्कॉन राधाकांता मंदिर पर हमला और लूटपाट हुआ है। देश में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के कल्याण के लिए काम करने वाले संगठन वॉइस ऑफ बांग्लादेशी हिंदू ने हमले के बाद की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं, साथ ही मदद के लिए अपील की है।

वॉइस ऑफ बांग्लादेश ने एक ट्वीट में लिखा है कि, ‘शब-ए-बारात की रात, चरमपंथी एक बार फिर ढाका के वारी राधाकांता इस्कॉन मंदिर पर हमला कर रहे हैं। हम सभी हिंदुओं से अपील करते हैं कि मंदिर की सुरक्षा करने में अपनी भूमिका निभाएं। इस ट्विटर हैंडल पर हमले से जुड़ी तस्वीरें भी शेयर की गई हैं। संगठन ने यह भी दावा किया कि जब चरमपंथी समूह ढाका में इस्कॉन मंदिर पर हमला कर रहा था, तब पुलिस ने उनपर कोई कार्रवाई नहीं की।'

इस हमले में सुमंत्र चंद्र श्रवण, निहार हलदर, राजीव भद्र समेत कई लोगों के घायल होने की खबर है। मंदिर पर हमला गुरुवार शाम करीब 7 बजे हुआ। हमले के दौरान भीड़ मंदिर में रखी कई कीमती वस्तुएं लूटकर चली गई। हमलावरों ने मंदिर में काफी तोड़फोड़ भी की। मंदिर की दीवारें टूटी हुई है।

बता दें कि पिछले साल बांग्लादेश के कोमिला शहर में नानूर दिघी झील के पास दुर्गा पूजा पंडाल में कथित तौर पर कुरान को अपवित्र किए जाने की खबर फैल गई थी, जिसके बाद हिंसा भड़कने से कम से कम तीन लोग मारे गए थे। इससे पहले ढाका के टीपू सुल्तान रोड और चटगांव के कोतवाली में भी इसी तरह की घटनाएं सामने आई थीं।