बेरुत बंदरगाह पर लगी भीषण आग, नागरिकों में डर का माहौल

Beirut Fires: तेल और टायर जमा किए जाने वाले वेयरहाउस में लगी आग। आग लगने का कारण अज्ञात, आर्मी तैनात

Updated: Sep 11, 2020 05:22 AM IST

बेरुत बंदरगाह पर लगी भीषण आग, नागरिकों में डर का माहौल
Photo Courtsey : BBC

पिछले महीने लेबनॉन की राजधानी बेरुत के बंदरगाह पर हुए भीषण विस्फोट के साथ अब इसी बंदरगाह पर आग लगने की खबर आ रही है। पिछले महीने हुए विस्फोट में 200 लोगों की मौत हुई, हजारों घायल हुए और लाखों लोग बेघर हो गए। फिलहाल आग लगने के कारण का पता नहीं चल पाया है। 

अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्थान अलजजीरा ने लेबनॉन की सेना के हवाले से बताया कि आग उस ड्यूटी फ्री भंडार गृह में लगी, जहां तेल और टायरों को रखा जाता है। वहीं न्यूज एजेंसी एपी ने बताया कि आग बुझाने के लिए आर्मी के हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

पिछले महीने तीन हजार टन अमोनियम नाइट्रेट में विस्फोट हो जाने से बेरूत बंदरगाह पूरी तरह से तबाह हो चुका है। विस्फोट इतना प्रबल था कि बंदरगाह की जमीन का एक हिस्सा तक उड़ गया। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि बंदरगाह पर चल रहे पुननिर्माण कार्य के कारण भंडार गृह की देख रेख नहीं हो पाई और भयंकर आग लग गई।

Click: Lebanon धमाके से दहली राजधानी बेरूत, 75 से ज़्यादा की मौत

दूसरी तरफ इस आग के बाद शहर के निवासियों में एक बार फिर से भय का माहौल है। स्थानीय समाचार चैनलों के मुताबिक बंदरगाह पर पुनर्निर्माण कार्य में लगे कर्मचारियों को उनकी कंपनी ने तुरंत इलाका खाली करने के लिए कहा है।

देश की सरकारी न्यूज एजेंसी के मुताबिक पुलिस प्रवक्ता कर्नल जोसफ मसल्लम का कहना है कि उन्हें अभी बंदरगाह पर लगी आग के बारे में कोई जानकारी नहीं है। बंदरगाह पर पूरी तरह से सेना का नियंत्रण है।