भोपाल: शुरू हुआ ड्राइव इन वैक्सीनेशन, गाड़ी में बैठे बैठे ही लगवाया जा सकेगा कोरोना का टीका

स्वास्थ्य विभाग और यूनिसेफ के सहयोग से लेक व्यू अशोका परिसर में शुरु हुआ ड्राइव इन वैक्सीनेशन, शाम 5 बजे से 8 बजे तक रोजाना 300 लोगों को लगेगा टीका, पहले से बुकिंग होगी जरूरी, पिक एंड ड्राप सुविधा भी उपलब्ध

Updated: May 02, 2021, 01:11 PM IST

भोपाल: शुरू हुआ ड्राइव इन वैक्सीनेशन, गाड़ी में बैठे बैठे ही लगवाया जा सकेगा कोरोना का टीका
Photo courtesy: twitter

भोपाल। राजधानी भोपाल में ड्राइव इन वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई। 45 साल से ज्यादा के लोगों के लिए यह ड्राइव इन वैक्सीनेशन स्वास्थ्य विभाग और यूनिसेफ के सहयोग से चलाया जा रहा है। भोपाल के श्यामला हिल्स स्थित होटल लेक व्यू कैंपस में यह सुविधा दी जा रही है। राज्य पर्यटन निगम का होटल है, जहां लोग पहले से बुकिंग करके कोरोना वैक्सीन का डोज लगवा सकते हैं।

पर्यटन बोर्ड यहां के लिए पिक एंड ड्रॉप की सुविधा भी दे रहा है। इस सुविधा के लिए लोगों को पहले से बुकिंग करना जरूरी होगा। ड्राइव इन वैक्सीनेशन सुविधा शाम 5 बजे से रात 8 बजे तक मिलेगी। इस दौरान ही लेक व्यू अशोका परिसर में गाड़ियों में बैठे-बैठे वैक्सीन लगाई जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग की टीम में पैरामेडिकल और नर्सिंग स्टाफ भी मौजूद रहता है। जिससे रोजाना समय पर वैक्सीनेशन ड्राइव की प्रक्रिया की जा सके। वहीं टीका लगवाने आए लोगों की सुविधा के लिए चिकित्सीय वैन भी मौजूद रहेगी। ड्राइव इन वैक्सीनेशन के तहत रोजाना शाम 6 से रात 9 बजे तक 18 वर्ष से अधिक उम्र के 300 लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा।

ड्राइव इन वैक्सीनेशन का लाभ लेने के लिए पर्यटन निगम के ट्रांसपोर्ट शाखा से संपर्क किया जा सकता है। जिसके लिए  10 किलोमीटर तक 400 रुपए, 20 किलोमीटर तक 600 रुपए और 35 किलोमीटर तक के लिए 900 रुपए किराया रखा गया है। यहां से संपर्क करके गाड़ियां मंगाई जा सकती हैं, ये गाड़िया लोगों को घर से पिक करके वैक्सीनेशन के बाद घर तक ड्रॉप करेंगी।

गौरतलब है कि एक दिन में 100 कारों को प्रवेश दिया जाएगा। कार सवार सभी लोगों का वैक्सीनेशन हो सकेगा। वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को आधे घंटे तक वहीं रोका जाएगा। इस दौरान लोगों को अपनी कार में ही डॉक्टर्स की निगरानी में बैठना होगा। जरुरी कागजी कार्रवाई के बाद लोगों को जाने दिया जाएगा।

भोपाल में शुरू हुई ड्राइव इन वैक्सीनेशन बुजुर्गों और महिलाओं के लिए बेहद सुरक्षित माना जा रहा है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने इसका उद्घाटन करते हुए इसे अनूठा प्रयोग बताया। इसी तरह का ड्राइव इन वैक्सीनेशन इंदौर में भी शुरू किया गया है। 

प्रमुख सचिव पर्यटन और संस्कृति शिव शेखर शुक्ला ने बताया, भोपाल वासियों को सुरक्षित और सुलभ वैक्सीनेशन की सुविधा के लिए यह नया प्रयोग शुरू किया गया है। ड्राइव इन वैक्सीनेशन के तहत रोजाना शाम 5 बजे से 8 बजे तक 45 वर्ष से अधिक आयु के (प्री -रजिस्टर्ड) नागरिकों को टीका लगाया जाएगा।

और पढ़ें: भारत मे कोरोना का कहर, पिछले 24 घंटे में आए 3.92 लाख नए मामले

गौरतलब है कि कोरोनाकाल में ही भोपाल में होटल  लेक व्यू अशोका में इसी स्थान पर प्रदेश के पहले ड्राइव इन सिनेमा की शुरुआत भी हुई थी। जहां लोग अपनी कार में बैठकर बड़ी स्क्रीन पर सिनेमा का आनंद ले सकते थे। फिलहाल लॉकडाउन की वजह से यह सेवा बंद कर ड्राइव इन वैक्सीनेशन की सुविधा शुरू की गई है।

वहीं इंदौर में दो ड्राइव थ्रू कोविड टेस्ट सेंटर शुरु हुए हैं। जहां नगर पालिका निगम और एक निजी लैब के द्वारा नेहरू स्टेडियम और दशहरा मैदान में ड्राइव थ्रू फ़ेसिलिटी सेंटर तैयार हुआ है। यहां एक लिंक के माध्यम से अग्रीम रजिस्ट्रेशन करवाने पर क्यू आर कोड मिलेगा। जिसे दिखाने  पर गाडी में बैठे बैठे कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

ड्राइव इन कोरोना टेस्टिंग की रिपोर्ट मोबाइल पर आएगी। एडवांस रजिस्ट्रेशन करवाने पर मजह 3 मिनट में कोरोना टेस्ट होगा। वहीं रिपोर्ट 24 घंटे में मोबाइल पर आएगी। इस ड्राइव इन में कार के साथ-साथ स्कूटर और तीन पहिया वाहन चालकों को भी शामिल किया गया है। 700 रुपए कोरोना जांच की फीस के साथ टेस्टिंग का काम किया जा रहा है।

बीते 24 घंटों में प्रदेश में 12 हजार 379 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं 14 हजार 562 मरीज स्वस्थ हुए हैं।  भोपाल में 1648 नए केस मिले हैं।