कैश डिपॉज़िट मशीन को हैक करने की फिराक में थे आरोपी, इंदौर क्राइम ब्रांच ने धर दबोचा

पुलिस के हत्थे चढ़े दोनों आरोपी हरियाणा के मेवात के रहने वाले हैं, आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि वे अब तक देश के कई शहरों में कैश डिपॉज़िट मशीन को हैक कर पैसे निकाल चुके हैं

Publish: Jun 25, 2021, 01:17 PM IST

कैश डिपॉज़िट मशीन को हैक करने की फिराक में थे आरोपी, इंदौर क्राइम ब्रांच ने धर दबोचा
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

इंदौर। इंदौर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दो आरोपियों को कैश डिपॉज़िट मशीन को हैक करते हुए पकड़ा है। गुरुवार देर रात क्राइम ब्रांच से जिस समय आरोपियों को पकड़ा, उस दौरान आरोपी कैश डिपॉज़िट मशीन को हैक कर रहे थे। पुलिस की पकड़ में आए दोनों आरोपी हरियाणा के मेवात के रहने वाले हैं। आरोपियों ने पुलिस के सामने यह खुलासा किया है कि दोनों अब तक इंदौर सहित देश के कई शहरों में इस कारनामे को अंजाम दे चुके हैं। 

एसबीआई के एटीएम से उड़ाए थे दो लाख रुपए 

 दरअसल गिरफ्त में आए इन आरोपियों ने 18 जून को इंदौर में एसबीआई के एटीएम से दो लाख से अधिक रुपए उड़ाए थे। राजेंद्र नगर थाना क्षेत्र में एसबीआई के बैंक मैनेजर ने यह शिकायत दर्ज कराई थी कि एटीएम की कैश डिपॉज़िट मशीन को हैक कर हैकर्स दो लाख दस हजार रूपए उड़ा ले गए हैं। 

कैश डिपॉज़िट मशीन में इन आरोपियों ने पहले एटीएम कार्ड लगाया और दस हजार रुपए निकाले। मशीन से पैसे निकलते ही आरोपियों ने कैश निकलने वाली जगह में उंगली डाल दी। जिसके बाद कैश निकालने वाली जगह चोक हो गई। दोनों आरोपियों ने करीब 21 मर्तबा किया और मशीन से 2 लाख दस हजार रुपए निकालकर फरार हो गए।

इस वारदात को अंजाम देने के बाद शहर में कई जगहों पर इसी तरह की घटना सामने आई। इंदौर पुलिस समझ गई कि एक ही गिरोह इस तरह की घटना को बारंबार अंजाम दे रहा है। आईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने इन सभी घटनाओं की छानबीन करने की ज़िम्मेदारी क्राइम ब्रांच को सौंपी जिसके बाद इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। 

आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ के दौरान बताया कि वे अब तक देश भर के कई शहरों में इस तरह की घटना को अंजाम दे चुके हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि वे दिन में ढाबे पर रुका करते थे और रात में एटीएम में जाकर वारदात को अंजाम दिया करते थे।