राहत की बजाय जनता को आहत करने में जुटी है सरकार, जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र

बढ़ती महंगाई को लेकर केंद्र और राज्य सरकार पर बरसे कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी, सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर टैक्स वसूली कम करने की मांग

Updated: May 18, 2022, 04:27 PM IST

राहत की बजाय जनता को आहत करने में जुटी है सरकार, जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र

भोपाल। देशभर में बढ़ती महंगाई को लेकर विपक्षी दल कांग्रेस लगातार बीजेपी सरकार पर हमलावर है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने महंगाई को लेकर सीएम शिवराज को निशाने पर लिया है। कांग्रेस विधायक ने सीएम चौहान को पत्र लिखकर टैक्स वसूली कम करने की मांग की है।

मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र में जीतू पटवारी ने लिखा की, 'पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। देश के साथ समूचे मध्यप्रदेश के जन-जन में यह धारणा अब स्थाई रूप से घर कर गई है कि भाजपा सरकारी राहत पहुंचाने की बजाय आम आदमी की जेब काटने पर आमादा है। चूंकि, आप अभी गंभीर बदहवासी और राजनीतिक अस्थिरता के शिकार हैं, इसलिए आपके संज्ञान में ला रहा हूं कि भारत में पेट्रोल चीन, ब्राजील, जापान, अमेरिका, रूस, पाकिस्तान और श्रीलंका की तुलना में महंगा है। ये तथ्य बैंक ऑफ बड़ौदा इकोनॉमिक रिसर्च की रिपोर्ट में भी सामने आए हैं।'

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में OBC आरक्षण के साथ होंगे पंचायत-निकाय चुनाव, सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

जीतू पटवारी ने आगे लिखा कि, 'अब जबकि फ्यूल की बढ़ती कीमतों को लेकर भाजपा शासित केंद्र और राज्य सरकार निरुत्तर हो चुकी है, ऐसे में जनता की परेशानियों को कौन और कैसे हल करेगा? पेट्रोल-डीज़ल की आसमान छूती क़ीमतों ने व बढ़ती महंगाई ने जनता की कमर तोड़ कर रख दी है। भाजपा सरकार इन पर लगे भारी भरकम करों में कमी कर राहत देने की बजाय बढ़ती महंगाई पर जनता का मज़ाक उड़ा रही है। कोरोना काल में आम जनता का रोजगार छिन गया, लोग अपनी रोजी-रोटी तक जुटा नहीं पा रहे हैं। ऐसे में जनता को राहत देने की बजाय सरकार टैक्स के जरिये पेट्रोल-डीजल को लूट का जरिया बनाकर अपनी तिजोरी भर रही है।'

कांग्रेस नेता ने पत्र में लिखा कि, 'गरीब और मध्यम वर्ग की समस्याओं को रसोई गैस की कीमतों ने भी बेतहाशा बढ़ाया है। सब्सिडी का पैसा नहीं देकर आम जनता को लूटा जा रहा है और भाजपा सरकारें उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने का काम कर रही है।मध्य प्रदेश के युवा सबसे ज्याादा बेरोजगार हैं। किसान परेशान हैं। महंगाई ने महिलाओं का घर चलाना मुश्किल कर दिया है। उधर, सरकार लगातार राहत की बजाय जनता को आहत करने में जुटी हुई है। आपसे अनुरोध है कृपया केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से मध्यप्रदेश के हितों की लड़ाई लड़ें और केंद्र के साथ राज्यो में भी टैक्स वसूली को तत्काल कम करवाएं।'