शीतलहर से ठिठुरा MP, ग्वालियर में 4 डिग्री तक लुढ़का पारा, कश्मीर से आ रही बर्फीली हवाएं

जम्मू कश्मीर से आ रही बर्फीली हवाओं के कारण ग्वालियर चंबल अंचल में तापमान 4 डिग्री तक पहुंच गया, प्रदेश में सबसे ठंडी रात गोहद में थी जहां पारा 3.7 दर्ज की गई है

Updated: Jan 15, 2022, 09:23 AM IST

शीतलहर से ठिठुरा MP, ग्वालियर में 4 डिग्री तक लुढ़का पारा, कश्मीर से आ रही बर्फीली हवाएं

ग्वालियर। जम्मू कश्मीर के बर्फ से ढंके पहाड़ों से टकराकर आ रही उत्तरी हवा के चलते लगातार दूसरे दिन मध्य प्रदेश में ग्वालियर-चबंल संभाग में सबसे अधिक ठंड रही। यहां न्यूनतम तापमान 4 डिग्री दर्ज हुआ है। शीतलहर ने अंचल के तीन जिलों के लोगों को ठिठुरा दिया। हालांकि प्रदेश में सबसे ठंडी रात भिंड के गाेहद में रहीं, जहांं न्यूनतम पारा 3.7 डिग्री दर्ज किया गया है।

ग्वालियर में करीब 23 दिन बाद न्यूनतम तापमान 4 डिग्री दर्ज हुआ। इससे पहले 22 दिसंबर को यहां का न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री दर्ज किया गया था। ग्वालियर-चंबल संभाग के दतिया में रात का पारा 4.6 डिग्री हाेने से काेल्ड-डे रहा। बताया जा रहा है कि प्रदेश के करीब 24 जिलों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से नीचे दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: कमल का कमाल, मंत्री की रिपोर्ट 24 घंटे में कैसे हुई नेगेटिव

दिन के तापमान की बात करें तो प्रदेश में पचमढ़ी (15.6 डिग्री) सबसे ठंडा रहा। पचमढ़ी के बाद मुरैना (17.0 डिग्री) दूसरे नंबर पर रहा। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घण्टे तापमान में गिरावट की संभावना है। यानी फिलहाल ठंढ़ से लोगों को राहत मिलता नहीं दिख रहा है। प्रदेश वासियों को कम से कम दो दिनों तक ठंड का टार्चर झेलना होगा। 15 व 16 जनवरी की रात हाड़ कंपाने वाली ठंड रहेगी।

मौसम केंद्र भोपाल के वैज्ञानिक वेदप्रकाश सिंह के मुताबिक अगले 24 घंटे में शीतलहर चलने के आसार हैं। दिन व रात में ठंड बढ़ेगी। 16 जनवरी से नया पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है। इससे बादल छाएंगे। इस वजह से तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है। इससे ठंड से राहत मिल सकती है।