मध्य प्रदेश में 18 दिसंबर से स्कूल खोलने का फरमान, निजी स्कूल संचालकों के दबाव में फ़ैसला

10वीं और 12वीं के बच्चों के लिए ही खुलेंगे स्कूल, पहली से आठवीं कक्षा के लिए कोई फैसला नहीं, विद्यार्थियों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं

Updated: Dec 16, 2020, 04:52 PM IST

मध्य प्रदेश में 18 दिसंबर से स्कूल खोलने का फरमान, निजी स्कूल संचालकों के दबाव में फ़ैसला
Photo Courtesy: Aaj Tak

भोपाल। मध्य प्रदेश के निजी स्कूल संचालकों की मोर्चाबंदी के आगे शिवराज सरकार को झुकना पड़ा है। स्कूल संचालकों द्वारा ऑनलाइन क्लास ठप करने की चेतावनी के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने आनन-फानन में 18 दिसंबर से दसवीं और बारहवीं की कक्षाएं लगाने का फरमान जारी कर दिया है। इसी के साथ अब मध्य प्रदेश में करीब 9 महीने बाद नियमित रूप से स्कूल खुलने जा रहे हैं।

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने सोमवार को स्कूली शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। इसमें तय किया गया कि 10वीं और 12वीं की कक्षाएं 18 दिसंबर से नियमित रूप से पूरे निर्धारित समय तक के लिए संचालित होंगी। बोर्ड परीक्षाओं के चलते स्कूल शिक्षा विभाग ने सिर्फ 10वीं और 12वीं की कक्षा को नियमित रूप से खोलने का निर्णय लिया है, वहीं पहली से आठवीं तक कि कक्षाओं के लिए फिलहाल कोई आदेश जारी नहीं किया गया है।

बैठक में यह भी तय किया गया है कि 9वीं और 11वीं कक्षा के लिए छात्रों के नामांकन और उपलब्ध अध्यापन कक्ष के आधार पर प्रिंसिपल और जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप द्वारा स्थानीय स्तर पर कक्षाओं के संचालन पर निर्णय लिया जा सकेगा। हालांकि, स्कूल शिक्षा विभाग की बैठक में लिए गए फैसलों से निजी स्कूल संचालक अब भी असंतुष्ट हैं। स्कूल संचालकों का कहना है कि सरकार ने अभी भी उनकी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर अपना रुख साफ नहीं किया है और ना ही पहली से लेकर आठवीं तक की कक्षाओं को खोलने का कोई आदेश दिया है।

निजी स्कूल संचालकों ने बताया है कि तय कार्यक्रम के अनुसार 15 दिसंबर को पूरे प्रदेश की निजी शिक्षण संस्थाओं में ऑनलाइन कक्षाएं ठप थीं। वहीं आज यानी 16 दिसंबर को राजधानी भोपाल में वे प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि जरूरत पड़ने पर शिक्षक और स्कूल संचालक गिरफ्तारी भी देंगे। बता दें कि इसके पहले स्कूल शिक्षा विभाग पहली से 8वीं तक के स्कूल मार्च तक न खोलने को लेकर आदेश जारी कर चुका है। जिसमें 31 मार्च तक पहली से 8वीं तक के स्कूल प्रदेश भर में बंद रखने के आदेश जारी किए गए थे।