प्रज्ञा ठाकुर ने किया गोडसे की ज्ञानशाला का समर्थन, कहा, ये राष्ट्रद्रोह से अच्छा

बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर इससे पहले महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बता चुकी हैं, तब प्रधानमंत्री ने कहा था वे ऐसे लोगों को दिल से कभी माफ नहीं कर पाएंगे

Updated: Jan 13, 2021, 11:20 AM IST

प्रज्ञा ठाकुर ने किया गोडसे की ज्ञानशाला का समर्थन, कहा, ये राष्ट्रद्रोह से अच्छा
Photo Courtesy: Navbharat times

भोपाल। भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है, जिस पर विवाद हो सकता है। बीजेपी सांसद ने ग्वालियर में गोडसे की ज्ञानशाला बनाए जाने का समर्थन करते हुए कहा है कि ऐसा करना राष्ट्रद्रोह से अच्छा है। प्रज्ञा ठाकुर पहले भी महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देश भक्त बताकर विवादों में घिर चुकी हैं।

प्रज्ञा ठाकुर से कल जब सीहोर के एक कार्यक्रम के दौरान ग्वालियर में खोली गई गोडसे की ज्ञानशाला के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस देश में सभी देशभक्त अपनी-अपनी तरह से काम करते हैं। जिसको जैसा लगता है वो वैसा काम करता है। इसमें कहीं से भी विवाद की कोई स्थिति नहीं है। भारत में हर कोई स्वतंत्र है। प्रज्ञा ठाकुर ने आगे कहा कि यह देशद्रोह करने से अच्छा है। बीजेपी सांसद ने कहा कि हमें कोई न कोई ऐसा काम करते रहना चाहिए ताकि लोगों में राष्ट्रीय चेतना बनी रहे। बीजेपी नेता इस बयान से तो यही अर्थ निकलता है कि गोडसे की हत्यारी सोच को बढ़ावा देना उनके हिसाब से राष्ट्रीय चेतना और देश भक्ति को बढ़ाने का काम है।

हालांकि यह पहली बार नहीं है जब प्रज्ञा ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का महिमामंडन किया हो। इससे पहले नवंबर 2019 में एसपीजी संशोधन बिल पर संसद में चर्चा के दौरान जब डीएमके नेता ए राजा  बता रहे थे कि गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या क्यों की थी, तो प्रज्ञा ठाकुर ने बीच में दखल देते हुए कहा था कि आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते। 

प्रज्ञा ठाकुर ने ऐसा ही बयान लोकसभा चुनाव के दौरान भी दिया था। बीजेपी सांसद ने अपने एक रोड शो के दौरान कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त था। बीजेपी नेता के इस बयान के बार बवाल मचने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने किसी का नाम लिए बगैर कहा था कि वे ऐसे लोगों को कभी दिल से माफ नहीं कर पाएंगे।