बिहार में बीजेपी नेता ज्ञानेंद्र सिंह के बाग़ी तेवर, मंत्रिमंडल विस्तार में सवर्णों की अनदेखी का लगाया आरोप

बीजेपी नेता ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने दस से बारह विधायकों के समर्थन का किया दावा, कहा, समय आने पर वे कोई फैसला ज़रूर लेंगे

Updated: Feb 09, 2021, 05:52 PM IST

बिहार में बीजेपी नेता ज्ञानेंद्र सिंह के बाग़ी तेवर, मंत्रिमंडल विस्तार में सवर्णों की अनदेखी का लगाया आरोप

पटना। बिहार सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार होते ही सत्ताधारी गठबंधन एनडीए में बगावती सुर दिखने लगे हैं। बीजेपी नेता ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने नीतीश कैबिनेट में सवर्णों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मंत्रिमंडल विस्तार से नाराज़ ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा है कि इस समय उनके संपर्क में 12 से ज़्यादा विधायक मौजूद हैं और सही समय आने पर वे कोई फैसला भी ले सकते हैं। ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू का साफ इशारा नीतीश सरकार के खिलाफ बगावती रुख अपनाने की ओर है। 

जातीय समीकरण का नहीं रखा गया ध्यान 
मंत्रिमंडल विस्तार के बाद तल्ख तेवर अपनाए हुए ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार करते समय जातीय समीकरण को सिरे से नजरअंदाज कर दिया गया। ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी के आधे से ज़्यादा सवर्ण उम्मीदवारों ने बाज़ी मारी, लेकिन जब मंत्रीपद सौंपने की बारी आई, तब उनकी अनदेखी कर दी गई।

अनुभवहीन और अपराधियों को दी गई मंत्रिमंडल में जगह 
बीजेपी नेता ने नीतीश मंत्रिमंडल पर वार करते हुए कहा कि अगड़ी जाती से आने वाले आधे से ज़्यादा उम्मीदवार तो चुनाव जीत गए, लेकिन उनमें से किसी को भी डिप्टी सीएम यानी उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया गया। ज्ञानू ने कहा कि जो लोग चुनाव नहीं जीत पाए और जो अनुभवहीन हैं। ऐसे नेताओं और अपराधिक पृष्ठिभूमि से ताल्लुक रखने वाले लोगों को कैबिनेट का हिस्सा बनाया गया है। ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि कैबिनेट में दक्षिण बिहार को भी पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया गया। 

यह भी पढ़ें : बिहार में नीतीश कैबिनेट का पहला विस्तार, 17 नए मंत्रियों ने ली शपथ, देखिए पूरी लिस्ट

मंगलवार को नीतीश कैबिनेट का विस्तार किया गया है। विस्तृत कैबिनेट में कुल 17 नए मंत्रियों को शामिल किया गया। इसमें बीजेपी के कुल 9 नेता जबकि जेडीयू के 8 नेताओं ने मंत्रीपद की शपथ ली। नए मंत्रियों में सबसे ज़्यादा चर्चा शाहनवाज हुसैन को लेकर हुई। शाहनवाज़ हुसैन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं। लेकिन अब उन्हें बिहार मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। शाहनवाज़ हुसैन का नीतीश कैबिनेट में जाना राज्य की आगामी राजनीति को लेकर बीजेपी की नई रणनीति की तरफ भी इशारा कर रहा है।