महंगाई और बेरोज़गारी इतनी ज़्यादा कैसे बढ़ी, 400 का सिलेंडर 1100 के पार कैसे गया: राहुल गांधी का केंद्र से सवाल

भारत जोड़ो यात्रा पर निकले राहुल गांधी ने केंद्र से सवाल पूछा कि आख़िर किसानों की मदद के लिए उन्होंने क्या किया? आख़िर इतिहास में पहली बार किसानों से GST क्यों वसूला जा रहा है?

Updated: Oct 14, 2022, 05:10 PM IST

महंगाई और बेरोज़गारी इतनी ज़्यादा कैसे बढ़ी, 400 का सिलेंडर 1100 के पार कैसे गया: राहुल गांधी का केंद्र से सवाल

नई दिल्ली। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का आज 37वां दिन है। हर दिन सामने आ रही इस यात्रा की तस्वीरों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं का बड़ा हुजूम दिखाई पड़ता है। तस्वीरों में राहुल का अलग ही अंदाज देखने को मिल रहा है। इसी बीच राहुल गांधी केंद्र पर लगातार हमलावर भी दिख रहे हैं।

राहुल गांधी ने शुक्रवार को केंद्र पर हमला बोलते हुए पूछा कि, 'भाजपा को किसानों को जवाब देना चाहिए, आख़िर किसानों की मदद के लिए उन्होंने क्या किया? उन्हें जवाब देना चाहिए, आख़िर इतिहास में पहली बार किसानों से GST क्यों वसूला जा रहा है? उन्हें जवाब देना चाहिए, आख़िर नोटबंदी और GST से किसानों और छोटे-मध्यम वर्ग के व्यापारियों को क्या फायदा हुआ और उनकी मदद के लिए भाजपा ने क्या किया? कोरोना के वक़्त भाजपा ने किसानों के लिए क्या किया? महंगाई और बेरोज़गारी इतनी ज़्यादा कैसे बढ़ गई? 400 का सिलेंडर 1100 के पार कैसे चला गया? पेट्रोल-डीज़ल 100 रु का कैसे हो गया?'

राहुल गांधी ने एक विस्तृत फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि, 'कल कर्नाटक के मरलाहल्ली गांव में, भारत जोड़ो यात्रा के दौरान मैं मूंगफली की खेती करने वाली देवम्मा से मिला, हम उनके साथ उनके खेत में गए, वहां कुछ देर तक बात-चीत भी हुई। देवम्मा ने बताया कि कैसे आज के वक़्त में खेती करना मुश्किल हो गया है। उनका पूरा परिवार इसी खेती पर निर्भर है। उन्होंने बताया कैसे वो दिन-रात खेतों में मेहनत करती हैं, घर के अन्य सदस्य भी उनका हाथ बंटाते हैं।'

राहुल आगे लिखते हैं, 'उनका कहना था कि आज के वक़्त में लागत ज़्यादा है लेकिन कमाई बहुत कम है। आज भाजपा ने खेती से सम्बंधित उपकरणों पर GST लगा दिया है, कीटनाशक, उर्वरक, बीज, ट्रैक्टर इत्यादि पर किसानों को GST देना पड़ रहा है। कड़ी मेहनत के बाद जब फसल तैयार भी हो जाती है तो मंडी में उसका उचित मूल्य नहीं मिलता। जैसे, कल ही मैंने एक खेत के पास कई टन टमाटर सड़क किनारे बेकार पड़े देखे। ये सोचने वाली बात है कि कर्ज़ लेकर और भारी GST का बोझ सह कर खेती करने वाले किसानों को अगर उनकी फसल का सही दाम न मिले, सरकार से रियायत और मदद न मिले तो वो किसान कितनी मुश्किल में आ जाएगा।'  

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को वोटिंग, 8 दिसंबर को आएंगे नतीजे, गुजरात की तारीखों का ऐलान नहीं

राहुल ने देशवासियों से आह्वान करते हुए लिखा कि, 'आज हमारे देश में किसानों पर अत्याचार हो रहा है, उनसे पैसे वसूले जा रहे हैं, ये हम सबकी ज़िम्मेदारी भी है और कर्तव्य भी कि हम सब, देश का पेट भरने वाले अन्नदाताओं के साथ मज़बूती से खड़े हों और उनपर हो रहे ज़ुल्मों के खिलाफ़ अपनी आवाज़ उठाएं।' बता दें कि 7 सितंबर को कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा, कन्यकुमारी से शुरू हुई थी और तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के बाद यह यात्रा आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की ओर जाने वाली है। भारत जोड़ो यात्रा के अब 1,000 किलोमीटर पूरे होने वाले हैं।

शुक्रवार को कर्नाटक के मरलाहल्ली गांव पहुंची इस यात्रा में राहुल के समर्थक भगवान राम और हनुमान का भेष धारण करे उनके साथ पैदल चलते दिखाई दिए। सियासी जानकारों के मुताबिक दक्षिण भारत में इस यात्रा को जिस तरह से लोगों का प्यार मिल रहा है, वह देश की राजनीति में बड़े बदलाव की ओर इशारा कर रहा है।