केंद्र के टीकाकरण के दावे को ममता ने बताया झूठ, कहा, वे सिर्फ आधारहीन बातें करते हैं

केंद्र सरकार ने हाल ही में यह दावा किया है कि इस साल के अंत तक हर भारतीय का टीकाकरण हो जाएगा, ममता ने केंद्र के इस दावे को धता बताया है

Publish: Jun 02, 2021, 05:36 PM IST

केंद्र के टीकाकरण के दावे को ममता ने बताया झूठ, कहा, वे सिर्फ आधारहीन बातें करते हैं
Photo Courtesy: The Financial Express

नई दिल्ली/कोलकाता। कोरोना वैक्सीन की भारी किल्लत के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। ममता बनर्जी ने केंद्र के इस दावे को झूठ करार दिया है। ममता बनर्जी ने कहा है कि केंद्र सरकार का यह दावा एकदम आधारहीन है कि दिसंबर के अंत तक हर भारतीय का टीकाकरण हो जाएगा। ममता ने कहा कि वे सिर्फ आधारहीन बातें ही करते हैं। 

ममता ने कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार राज्यों को वैक्सीन मुहैया नहीं करा रही है, दूसरी तरफ इस साल के अंत तक टीकाकरण अभियान पूरा करने का दावा ठोक रही है। जो कि सफेद झूठ है। ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार को वैक्सीन खरीद कर राज्यों को मुफ्त में देना चाहिए। हाल ही में कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा देश में वैक्सीनेशन की मंद पड़ी रफ्तार को लेकर सवाल उठाने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि केंद्र सरकार इस साल के अंत तक वैक्सीनेशन अभियान पूरा कर लेगी। 

यह भी पढ़ें : केंद्र सरकार की टीकाकरण नीति को सुप्रीम कोर्ट ने बताया अतार्किक, वैक्सीन के बजट पर किए गए खर्चे का मांगा ब्यौरा

वहीं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी सभी राज्यों के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। पटनायक ने अपने पत्र में सभी मुख्यमंत्रियों से केंद्र सरकार के जरिए वैक्सीन की खरीददारी पर सहमति मांगी है। सुप्रीम कोर्ट ने खुद बुधवार को केंद्र की टीकाकरण नीति पर सवाल उठाए हैं। उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार से वैक्सीन की खरीद पर 35 हज़ार करोड़ के तय किए गए बजट का ब्यौरा मांगा है कि अब तक सरकार ने कितना खर्च किया है। उच्चतम न्यायालय ने सरकार से यह भी पूछा है कि आखिर सरकार 18 से 44 वर्ष के उम्र वर्ग के लोगों का टीकाकरण क्यों नहीं कर सकती?