घूसखोरी की आरोपी SDM की शादी, वेडिंग कार्ड पर लिखा, इतना ही लो थाली में, व्यर्थ न जाए नाली में

राजस्थान में 10 लाख रुपये की घूसखोरी के आरोप में घिरी RAS पिंकी मीणा शादी के लिए ज़मानत पर बाहर हैं, मंगलवार को उनकी एक जज से शादी है, जिसके बाद उन्हें फिर से सरेंडर करना होगा

Updated: Feb 15, 2021, 07:26 PM IST

घूसखोरी की आरोपी SDM की शादी, वेडिंग कार्ड पर लिखा, इतना ही लो थाली में, व्यर्थ न जाए नाली में
Photo Courtesy : Asianet

जयपुर। इतना ही लो थाली में, व्यर्थ न जाए नाली में। खाने की बर्बादी को लेकर जागरूकता फैलाने वाला यह स्लोगन इन दिनों राजस्थान के प्रशासनिक महकमे के बीच सुर्खियों में है। इस खास स्लोगन के सुर्खियों में आने का कारण भी बेहद खास है। दरअसल 10 लाख रुपए की घूसखोरी की आरोपी RAS पिंकी मीणा कल बसंत पंचमी के मौके पर विवाह कर रही हैं और उन्होंने अपने शादी के कार्ड पर यही वाक्य लिखवाया है।

रिश्वतखोरी की आरोपी पिंकी की शादी के कार्ड में खाना बचाने के इस स्लोगन के साथ ही साथ मेहमानों से मास्क लगाने और कोविड नियमों का पालन करने की अपील भी की गई है। साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चश्मे के साथ स्वच्छता को लेकर जागरूकता फैलाने का प्रयास भी किया गया है। जानकारी के मुताबिक पिंकी की शादी राजस्थान न्यायिक सेवा के अधिकारी यानी जज के साथ हो रही है। 

बता दें कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने 13 जनवरी को दौसा के बांदीकुई में एसडीएम रहते हुए पिंकी को गिरफ्तार किया था। उन पर दौसा में सड़क बनाने वाली कंपनी से रिश्वत लेने का आरोप है। एसीबी ने पिंकी के अलावा दौसा के SDM पुष्कर मित्तल को भी 5 लाख रुपए की रिश्वत लेने के केस में गिरफ्तार किया था। एक दलाल नीरज मीणा की भी गिरफ्तारी हुई थी। इनसे पूछताछ के बाद ACB ने दौसा के तत्कालीन SP मनीष अग्रवाल को गिरफ्तार किया था। ये सभी लोग जेल में बंद हैं।

गिरफ्तारी के बाद पिंकी 29 दिनों तक राजधानी जयपुर स्थित महिला जेल में ज्यूडिशियल कस्टडी में रहीं। शादी तय होने पर हाईकोर्ट ने 10 फरवरी को उन्हें 10 दिन की अंतरिम जमानत दी थी। दिलचस्प बात यह है कि शादी के महज चार दिन बाद यानी 21 फरवरी को उन्हें फिर से कोर्ट में सरेंडर करना होगा।