कांग्रेस के सीएम पद का चेहरा हो सकती हैं प्रियंका गांधी, सलमान खुर्शीद ने दिए संकेत

खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में लड़ने जा रही है, सीएम पद पर अंतिम निर्णय प्रियंका गांधी ही लेंगी

Publish: Sep 13, 2021, 12:33 PM IST

कांग्रेस के सीएम पद का चेहरा हो सकती हैं प्रियंका गांधी, सलमान खुर्शीद ने दिए संकेत

लखनऊ। अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस मैदान में उतर गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को जीत दिलाने के लिए काफी मेहनत कर रही हैं। हालांकि कांग्रेस ने अपने सीएम के चेहरे की औपचारिक घोषणा अब तक नहीं की है। लेकिन सलमान खुर्शीद ने प्रियंका गांधी के कांग्रेस के सीएम का चेहरा होने के संकेत दिए हैं। 

सलमान खुर्शीद ने रविवार को आगरा में मीडिया से बात करते हुए संकेत दिए कि आगामी चुनाव में प्रियंका गांधी कांग्रेस के सीएम पद का चेहरा हो सकती हैं। सलमान खुर्शीद ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस प्रियंका गांधी के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ने जा रही है। सीएम पद के चेहरे को लेकर अंतिम निर्णय प्रियंका गांधी ही लेंगी। 

इससे पहले रविवार को प्रियंका गांधी रायबरेली में हनुमान मंदिर में मत्था टेकने पहुंची थीं। इस दौरान मंदिर के पुजारी ने प्रियंका गांधी से कहा कि वे यह कामना करते हैं कि मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री दोनों ही कांग्रेस पार्टी का हो। पुजारी ने प्रियंका गांधी से कहा कि गांधी परिवार ने जितना इस देश के लिए किया, उतना किसी ने नहीं किया। 

यह भी पढ़ें : पुजारी ने की प्रियंका गांधी से अपील, पीएम और सीएम दोनों आपकी ही पार्टी का हो

उत्तर प्रदेश में अगले साल फरवरी मार्च के महीने में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। लेकिन चुनाव से काफी पहले ही कांग्रेस ने अपनी रणनीति को ज़मीनी रूप देना शुरू कर दिया है। प्रियंका गांधी जल्द ही बारह हजार किलोमीटर की प्रतिज्ञा यात्रा पर निकलने वाली हैं। जिसमें वे यूपी के हर शहर और हर बड़े गांव का दौरा करेंगी। 

वहीं विधानसभा चुनावों में उम्मीदवारों को टिकट दिए जाने के मसले पर भी कांग्रेस ने अपनी रणनीति तैयार कर ली है। कांग्रेस एबीसीडी फॉर्मूले के आधार पर उम्मीदवारों को टिकट देने की योजना बना रही है। पहली श्रेणी में उस तरह के उम्मीदवार होंगे, जिनकी जीत को लेकर कांग्रेस पूरी तरह से आश्वस्त है। दूसरी कैटेगरी में ऐसे उम्मीदवार होंगे जो कि जनता के बीच काफी लोकप्रिय हैं। तीसरी श्रेणी में कांग्रेस ऐसे उम्मीदवारों को टिकट देगी जो काफी लम्बे अरसे से कांग्रेस के साथ जुड़े हुए हैं। वहीं चौथी श्रेणी में ऐसे उम्मीदवार होंगे जिन्हें जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है।