GST काउंसिल की बैठक से पहले प्रियंका की मांग, दवाओं और स्वास्थ्य उपकरणों पर टैक्स न ले सरकार

GST काउंसिल की अहम बैठक से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट, बोलीं- महामारी के समय ऑक्सीजन, बेड और दवाइयों पर टैक्स वसूलना निर्दयता

Updated: May 28, 2021, 12:35 PM IST

GST काउंसिल की बैठक से पहले प्रियंका की मांग, दवाओं और स्वास्थ्य उपकरणों पर टैक्स न ले सरकार
Photo Courtesy: MoneyControl

नई दिल्ली। करीब सात महीने बाद आज जीएसटी काउंसिल की अहम बैठक होने वाली है। जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक अहम अपील की है। प्रियंका ने मांग किया है कि दवाओं, वेंटीलेटर्स, वैक्सीन व अन्य स्वास्थ्य उपकरणों पर जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स न वसूला जाए। कांग्रेस नेता ने महामारी के इस दौर में जीवनरक्षक दवाइयों पर टैक्स वसूले जाने को निर्दयता करार दिया है।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, 'महामारी के समय आवश्यक मेडिकल प्रोडक्ट्स जैसे एम्बुलेंस, बेड, वेंटीलेटर, ऑक्सीजन, दवाइयों, टीके के लिए परेशान हुए लोगों से जीएसटी वसूलना निर्दयता और असंवेदनशीलता है। आज जीएसटी परिषद की बैठक में सरकार को कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में इस्तेमाल हो रही सभी जीवनरक्षक दवाइयों और उपकरणों पर से जीएसटी हटाना चाहिए।' 

प्रियंका ने इसके साथ ही आवश्यक मेडिकल इकविपमेंट्स का लिस्ट भी साझा किया है। इसमें बताया गया है कि सर्जिकल ग्लव्स, सैनिटीजर्स और थर्मामीटर पर केंद्र सरकार 18 फीसदी जीएसटी वसूल रही है। वहीं ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर, वेंटीलेटर्स, पीपीई किट्स व अन्य दवाइयों पर 12 फीसदी जीएसटी वसूले जा रहे हैं। इतना ही नहीं कोरोना वैक्सीन पर भी सरकार पांच फीसदी जीएसटी वसूल रही है।

यह भी पढ़ें: GST काउंसिल की बैठक से पहले लामबंद हुए सात राज्य, जीएसटी क्षतिपूर्ति राशि जारी करने की मांग

जीएसटी परिषद की मीटिंग से पहले कल ही सात गैर बीजेपी शासित राज्यों ने बैठक किया था। इस दौरान इन राज्यों के वित्तमंत्री भी इस बात पर सहमत हुए की स्वास्थ्य उपकरणों पर जीएसटी वसूलना गलत है। इन राज्यों ने तय किया है की काउंसिल की बैठक में वे एकजुट होकर हेल्थ इकविपमेंट्स पर जीरो जीएसटी लागू करने के लिए पुरजोर तरीके से अपनी बात रखेंगे।