पूरे UP में काउंटिंग से पहले मतगणना केंद्रों के बाहर पहरा देने वाले सपा कार्यकर्ताओं पर FIR

अखिलेश यादव के आह्वान पर मतगणना केंद्रों के बाहर दिन-रात पहरा दे रहे थे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता, अब पुलिस चुन-चुनकर सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर रही है

Updated: Mar 16, 2022, 07:03 PM IST

पूरे UP में काउंटिंग से पहले मतगणना केंद्रों के बाहर पहरा देने वाले सपा कार्यकर्ताओं पर FIR

लखनऊ। पूरे उत्तर प्रदेश में मतगणना केंद्रों के बाहर पहरा देने वाले सपा कार्यकर्ताओं को अब FIR का सामना करना पड़ रहा है। यूपी पुलिस अब उन समाजवादियों के खिलाफ चुन-चुनकर मुकदमे दर्ज कर रही है जो काउंटिंग के पहले मतगणना केंद्रों के बाहर निगरानी कर रहे थे। पूर्वी यूपी, पश्चिमी यूपी से लेकर मध्य यूपी से ऐसे दर्जनों मामले सामने आए हैं।

दरअसल, चुनावी नतीजे सामने आने के पहले यूपी में उस समय विवाद खड़ा हो गया था जब वाराणसी में काउंटिंग सेंटर से अवैध रूप से ईवीएम को ले जाने का मामला सामने आया था। तब समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने अपने कार्यकर्ताओं से वोटों की गिनती शुरू होने के पहले EVM's की पूरे समय चौकसी करने को कहा था। अखिलेश के इस आह्वान पर उसी रात प्रदेश के सभी मतगणना केंद्रों पर सपाइयों का हुजूम उमड़ पड़ा और उन्होंने पहरेदारी शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें: लोकतंत्र को हैक करने के लिए सोशल मीडिया का दुरुपयोग किया जा रहा है: सोनिया गांधी

इस दौरान कई स्‍थानों से ऐसे वीडियो सामने आए थे जिनमें काउंटिंग सेंटर्स में आने-जाने वाले सभी वाहनों की सपा कार्यकर्ता जांच के बाद ही जाने दे रहे थे। इस संबंध में पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के बस्‍ती जिले में 100 सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ सात अलग अलग मुकदमे दर्ज किए गए हैं। बस्‍ती के पुलिस प्रमुख आशीष श्रीवास्‍तव ने एक बयान में कहा है की, 'समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता, काउंटिंग के एक दिन पहले अनधिकृत तरीके से सरकारी अफसरों के वाहनों की जांच कर रहे थे। हमने इन अधिकारियों के स्‍टाफ की शिकायत पर सात केस दर्ज किए हैं। इन सरकारी अधिकारी के काम में बाधा डालने की धारा भी शामिल है।'

बस्‍ती में समाजवादी पार्टी के एक शीर्ष नेता ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार द्वारा सपा कार्यकताओं को टारगेट किया जा रहा है। बस्‍ती सदर सीट से चुनाव जीते महेंद्र नाथ यादव ने कहा की, 'बस्‍ती जिले से सपा के चार विधायक चुने गए हैं, इसके बाद से पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं पर झूठे केस लगाए जा रहे हैं। हमने डिस्ट्रिक्‍ट मजिस्‍ट्रेट से इसे रोकने को कहा है अन्‍यथा हम विरोध करेंगे।

यह भी पढ़ें: PM नरेंद्र मोदी द कश्मीर फाइल्स फिल्म से हटाएं GST, पूरे देश में एक साथ हो जाएगी टैक्स फ्री: भूपेश बघेल

उधर, पश्चिमी यूपी के हापुड में पुलिस ने छह नामजद  30 अज्ञात समाजवादी कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किया है, इन पर काउंटिंग के एक दिन पहले सरकारी अधिकारियों के साथ मारपीट करने और उन्हें जिले के काउंटिंग सेंटर में प्रवेश से रोकने का आरोप है। इसी तरह मध्‍य यूपी के हरदोई में पुलिस ने 11 मार्च को 100 समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं पर मामला दर्ज किया था। यहां भी इसी तरह के आरोप लगाए गए हैं। मामले में नामजद दो आरोपियों को आज सुबह अरेस्‍ट किया गया।