बारात में नहीं ले जाने पर भड़का दूल्हे का दोस्त, भेजा 50 लाख का मानहानि नोटिस

बारात में नहीं ले जाने पर भड़का दूल्हे का दोस्त, भेजा मानहानि का लीगल नोटिस, मानसिक प्रताड़ना देने का लगाया आरोप, हर तरफ हो रही है नोटिस की चर्चा

Updated: Jun 25, 2022, 03:57 PM IST

बारात में नहीं ले जाने पर भड़का दूल्हे का दोस्त, भेजा 50 लाख का मानहानि नोटिस

हरिद्वार।  दो दोस्तों के बीच झगड़े आम हैं। दोस्त के विवाह में तवज्जो न मिलने के कारण दूल्हे के दोस्त अक्सर रूठ जाया करते हैं। लेकिन कोई इस तरह का मामला कोर्ट तक लेकर चला जाए, यह शायद ही कभी हुआ हो। हरिद्वार में ऐसी ही एक घटना सामने आई है, जहां दूल्हे को अपनी बारात में दोस्त को न ले जाना तब भरी पड़ गया जब उसे लीगल नोटिस प्राप्त हुआ।

रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते 23 जून को हरिद्वार के आराध्या कॉलोनी निवासी रवि की शादी हुई। उसने अपनी शादी में आने के लिए अपने जिगरी दोस्त चंद्रशेखर को भी निमंत्रण कार्ड दिया था। रवि की बारात हरिद्वार के बहादराबाद से ज़िला बिजनौर के धामपुर रवाना होनी थी। बारात निकलने का समय 5 बजे का रखा गया था। कानूनी नोटिस भेजने वाले चंद्रशेखर का कहना है कि वह अन्य दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ 4 बजकर 50 मिनट पर ही बारात प्रस्थान स्थल पर पहुंच गया था। लेकिन वहां जाकर पता चला कि दूल्हे को इतनी जल्दी थी की वह बारात लेकर 4:30 बजे ही निकल गया।

यह भी पढ़ें: शिवसैनिक सड़कों पर उतरे तो आग लग जाएगी, महाराष्ट्र में हिंसा की आशंका के बीच बोले संजय राउत

इतना ही नहीं चंद्रशेखर ने जब दूल्हे को फोन कर आने के बारे में पूछा तो उसने ढंग से बात भी नहीं की। गलती मानना तो दूर उसने कहा कि जो लोग छूट गए वे अब वापस घर चले जाएं। चंद्रशेखर के वकील अरुण भदौरिया ने बताया कि इस घटना के बाद वह बेहद अपमानित महसूस कर रहा था। दोस्त के इस बर्ताव से उसे इतना बुरा लगा की वह आत्महत्या करने की सोचने लगा।

वकील भदौरिया के मुताबिक चंद्रशेखर के साथ बारात प्रस्थान स्थल पर इंतजार कर रहे अन्य रिश्तेदारों ने रवि का गुस्सा उसपर निकल दिया और उसे भरपूर खरी–खोटी सुनाई। इस कारण वह और भी अधिक मानसिक तनाव में आ गया था और वह इस अपमान को सहन नहीं कर पर रहा था। इस अपमान को लेकर भदौरिया ने चंद्रशेखर को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया और उसे आत्महत्या करने से रोका। 

यह भी पढ़ें: मंच पर चढ़ते ही धड़ाम से गिरे मंत्री तुलसी सिलावट, इंदौर में BJP महापौर कैंडिडेट के लिए कर रहे थे प्रचार

चंद्रशेखर ने अपने दूल्हे दोस्त को जब फ़ोन करके मानहानि का नोटिस भेजने की बात बताई, इसके बाद भी रवि उसकी बात को गंभीरता से नहीं ले रहा था। अब उसने दूल्हे को 50 लाख रूपये का मानहानि का कानूनी नोटिस भेजते हुए तीन दिन में सार्वजनिक रूप से माफ़ी नहीं मांगने को कहा है। अगर दूल्हा सार्वजनिक माफी नहीं मांगता है तो फिर मामला कोर्ट में जाएगा।