छत्तीसगढ़ के चर्च में तोड़फोड़, समझाने गई पुलिस पर भीड़ ने किया हमला, एसपी गंभीर रूप से घायल

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में आदिवासियों ने चर्च में घुसकर की तोड़फोड़, मौके पर पहुंची पुलिस पर भी हिंसक भीड़ ने किया हमला, एसपी का सिर फूटा।

Updated: Jan 02, 2023, 07:31 PM IST

छत्तीसगढ़ के चर्च में तोड़फोड़, समझाने गई पुलिस पर भीड़ ने किया हमला, एसपी गंभीर रूप से घायल

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में अनियंत्रित भीड़ का खतरनाक चेहरा सामने आया है। यहां आदिवासियों के एक समूह ने चर्च में घुसकर जमकर तोड़फोड़ की। मौके पर पहुंची पुलिस पर भी भीड़ ने हमला कर दिया। इस दौरान नारायणपुर एसपी के सिर पर गंभीर चोटें आई।

बताया जा रहा है कि नारायणपुर जिले में धर्मांतरण के विरोध में सोमवार को आदिवासी समाज ने बंद बुलाया था। धरना प्रदर्शन करने की तैयारी थी। मगर भीड़ बेकाबू हो गई और लोग चर्च में घुसकर तोड़फोड़ करने लगे। ये देखकर पुलिस उन्हें समझाने गई थी, लेकिन ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला कर दिया।

यह भी पढ़ें: अब मजदूर के बच्चे मजदूर नहीं बनेंगे, सीएम भूपेश बघेल ने नए साल पर श्रमिकों को दी चार बड़ी सौगातें

भीड़ ने नारायणपुर एसपी सदानंद कुमार को निशाना बनाकर हमला कर दिया। इस जानलेवा हमले में एसपी बुरी तरह घायल हो गए। उनके सिर में गंभीर चोटें आई है। जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। घटना स्थल से संबंधित सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में एसपी को सिर से खून बहने के कारण सिर पर हाथ रखकर भागते हुए देखा गया है।

बताया जा रहा है कि नारायणपुर के बखरूपारा में धर्मांतरण के खिलाफ बड़ी संख्या में आदिवासी समुदाय के लोग एकत्रित हुए थे। आदिवासी समुदाय का आरोप है कि ईसाई समुदाय ने आदिवासियों के साथ मारपीट की है और इसके चलते भीड़ इकट्ठा हुई थी। गुस्साई भीड़ ने वहां मौजूद एक चर्च पर हमला कर दिया और इसके बाद पुलिस पर भी हमला किया, जिसमें एसपी सदानंद कुमार को सिर पर चोट लगी। इसके बाद उपद्रवियों को काबू करने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया गया।

एसपी सदानंद कुमार ने अस्पताल में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि प्रदर्शनकारी दोपहर में विश्व दीप्ति क्रिश्चियन स्कूल के पास पहुंचे और स्कूल परिसर में स्थित एक चर्च की ओर बढ़ने की कोशिश की। घटना की जानकारी मिलते ही मैं तुरंत अन्य अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचा और प्रदर्शनकारियों को शांत करने की कोशिश की। वे आश्वस्त लग रहे थे और लौटने वाले थे, लेकिन अचानक किसी ने मेरे सिर पर हमला कर दिया।