अडानी समूह ने ख़रीदी NDTV में हिस्सेदारी, 29 फीसदी के शेयर ख़रीद 26 फीसदी के लिए मार्केट में दिया ऑफर

अडानी ग्रुप ने इस डील को मील का पत्थर करार देते हुए कहा है कि अब इस चैनल के जरिए हम लोगों तक अपना विजन पहुंचाएंगे, स्वतंत्र मीडिया की छवि वाले एनडीटीवी के दर्शकों का कहना है कि अब एनडीटीवी भी कॉरपोरेट के कब्जे में आ गया है

Updated: Aug 23, 2022, 10:03 PM IST

अडानी समूह ने ख़रीदी NDTV में हिस्सेदारी, 29 फीसदी के शेयर ख़रीद 26 फीसदी के लिए मार्केट में दिया ऑफर
Photo Courtesy: Abovestocks

नई दिल्ली। मीडिया जगत में अडानी ग्रुप का दबदबा बढ़ता ही जा रहा है। द क्विंट के बाद अब अडानी ने एनडीटीवी का अधिग्रहण कर लिया है। मंगलवार को अडानी समूह ने एनडीटीवी का 29.18 फीसदी हिस्सेदारी अपने नाम कर लिया। जबकि 26 फीसदी अतिरिक्त हिस्सेदारी खरीदने के लिए ओपन मार्केट ऑफर भी दिया है। स्वतंत्र मीडिया की छवि वाले एनडीटीवी के दर्शकों का कहना है कि अब इस चैनल पर भी कॉरपोरेट का कब्जा हो गया है।

अडानी समूह ने एक प्रेस रिलीज जारी कर इस डील की जानकारी दी है। दरअसल, अडानी समूह ने परोक्ष रूप से एनडीटीवी के शेयर खरीदा है।  ये सौदा VCPL और RRPR के जरिए हुआ। RRPR एनडीटीवी की प्रमोटर कंपनी है। जबकि  VCPL पूरी तरह से AMNL की 100% सब्सिडियरी कंपनी है। AMNL पर अडानी ग्रुप का मालिकाना हक है। VCPL के पास एनडीटीवी की 29.18% हिस्सेदारी थी। इसे ही अडानी ग्रुप हासिल करेगा।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस ने लॉन्च किया भारत जोड़ो यात्रा का कैंपेन, दिग्विजय सिंह ने बताई यात्रा से जुड़ने की प्रक्रिया

अडानी ग्रुप ने आगे और हिस्सेदारी लेने के लिए ऑपन मार्केट का ऑफर भी पेश किया है। इसके तहत अडानी समूह ने एनडीटीवी के 1,67,62,530 पूर्ण चुकता इक्विटी शेयर सार्वजनिक शेयरधारकों से खरीदने के लिये 294 रुपये प्रति शेयर के मूल्य की पेशकश की है। यदि ओपन मार्केट से अडानी समूह के पास 26 फीसदी शेयर चला जाता है तो एनडीटीवी में अडाणी समूह की 50 फीसदी से अधिक की हिस्सेदारी हो जाएगी। ऐसे में यह चैनल पूरी तरह अडानी समूह के कब्जे में चला जाएगा।

अडानी समूह ने इस डील को मील का पत्थर करार दिया है। अडानी समूह की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि अब इस चैनल के जरिए हम लोगों तक अपना विजन पहुंचाएंगे। एएमएनएल भारतीय नागरिकों, उपभोक्ताओं और भारत में रुचि रखने वालों को सूचना और ज्ञान के साथ सशक्त बनाना चाहता है। समाचारों में अपनी अग्रणी स्थिति और शैलियों और भौगोलिक क्षेत्रों में अपनी मजबूत और विविध पहुंच के साथ, एनडीटीवी हमारे दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए सबसे उपयुक्त प्रसारण और डिजिटल प्लेटफॉर्म है। हम न्यूज डिलीवरी में NDTV के नेतृत्व को मजबूत करने के लिए तत्पर हैं।'

बता दें कि NDTV एक प्रमुख मीडिया हाउस है जो एनडीटीवी 24x7, एनडीटीवी इंडिया और एनडीटीवी प्रॉफिट नाम के तीन राष्ट्रीय चैनलों का संचालन करती है। एनडीटीवी कि छवि स्वतंत्र मीडिया घराने रूप में रही है। अपने आलोचनात्मक दृष्टिकोण के लिए एनडीटीवी दर्शकों के बीच मशहूर है। हालांकि, इस डील के बाद एनडीटीवी के दर्शकों का मानना है कि यह चैनल भी अब कॉरपोरेट के कब्जे में चला गया। ऐसे में अब चैनल का फोकस जनहित के मुद्दों को उठाने के बजाए व्यवसाय पर ज्यादा रहेगा।