होशंगाबाद में हुआ 144 करोड़ का रेत घोटाला, दिग्विजय सिंह ने CM से की उच्चस्तरीय जांच की मांग

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने रेत घोटाले के सिलसिले में लिखा सीएम शिवराज को पत्र, बोले खनिज मंत्री के दबाव में जिला प्रशासन नहीं कर रहा घोटाला करने वाली कम्पनी पर कार्रवाई

Updated: Jan 11, 2022, 06:19 PM IST

होशंगाबाद में हुआ 144 करोड़ का रेत घोटाला, दिग्विजय सिंह ने CM से की उच्चस्तरीय जांच की मांग

भोपाल। मध्यप्रदेश में रेत खनन घोटालों की श्रृखला में पन्ना जिले के बाद होशंगाबाद जिले में 144 करोड़ रूपये का एक नया घोटाला सामने आया है। इस संबंध में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर संबंधित कम्पनी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। इस पूरे मामले में राज्यसभा सांसद ने एक उच्च स्तरीय जांच करने की मांग की है। 

कांग्रेस नेता ने सीएम को लिखे पत्र में मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि  खनिज विभाग ने गत वर्ष 13 जनवरी 2021 में होशंगाबाद जिले की 118 रेत खदानों का ठेका 261 करोड़ रुपये में छत्तीसगढ़ की कम्पनी आर.के. ट्रांसपोर्ट एण्ड कन्सट्रक्शन को दिया था। कम्पनी को हर महीने 24 करोड़ रुपये की राशि राज्य सरकार के पास जमा करानी थी।

राज्यसभा सांसद ने कहा कि पिछले साल के शुरुआती महीनों से ही अनुबंधित कम्पनी ने निर्धारित किस्त देने में रुचि नहीं दिखाई। किस्त न देने के पीछे कम्पनी कोरोना काल में व्यवसाय नहीं होने के बहाने करती रही। दिग्विजय सिंह ने कहा कि सितम्बर से दिसम्बर 2021 में कम्पनी ने शासन को एक रुपया भी नहीं दिया। जबकि उसे 144 करोड़ रुपये का बकाया भुगतान करना था।

खनिज विभाग ने नहीं की कोई कार्रवाई 

कांग्रेस नेता ने खनिज विभाग द्वारा कम्पनी पर कोई कार्रवाई न करने का आरोप लगाते गए कहा कि करोड़ों की  अनुबंध के अनुसार एक महीने का विलंब होने पर ही कम्पनी से करार खत्म कर दिया जाना था और नये टेण्डर जारी किये जाने थे। लेकिन कम्पनी सरकार की उदारता के भरोसे खदानों से करोड़ो रुपये की रेत निकालकर बेचती रही। जिले से लेकर शासन स्तर तक से कम्पनी के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई।

यह भी पढ़ें ः MP के वन मंत्री विजय शाह की चेतावनी, खर्राटा लिया तो आ जाएगा तेंदुआ

दिग्विजय सिंह ने खनिज मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का ज़िक्र करते हुए कहा कि आपकी सरकार के खनिज मंत्री श्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह ही होशंगाबाद जिले के प्रभारी मंत्री भी है। भा.ज.पा. के प्रदेश अध्यक्ष श्री वी.डी. शर्मा का भी होशंगाबाद जिले से नजदीकी रिश्ता है। यह पन्ना खनिज घोटाले की बहुचर्चित जोड़ी है। आश्चर्यजनक है कि शीर्ष राजनेताओं से लेकर जिम्मेदार अधिकारी तक खामोश रहे और कम्पनी करोड़ो रुपये की रेत बेचती रही। जब 144 करोड़ रुपये की चपत राज्य शासन के खजाने को लग गई तो जनवरी 2022 में कम्पनी से अनुबंध समाप्त करने की कार्यवाही खनिज निगम मुख्यालय भोपाल के स्तर से की गई और कलेक्टर होशंगाबाद को रेत खदानों का कब्जा वापिस लेने हेतु पत्र लिखा गया। खनिज निगम के कार्यपालक संचालक ने कलेक्टर को लिखे पत्र में ठेकेदार की रखी रेत का स्टॉक मिलाने के निर्देश दिये है। कम्पनी को स्टॉक में रखी रेत बेचने के अधिकार दे दिये गए हैं। खनिज विभाग के रिकार्ड में कम्पनी के पास 4 लाख 37 हजार क्यूबिक मीटर रेत स्टॉक में है।

कम्पनी के पास स्टॉक में नहीं बची है रेत

कांग्रेस नेता ने रेत कारोबार से जुड़े सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि होशंगाबाद जिले में कम्पनी के पास स्टॉक में रेत बची ही नहीं है। कम्पनी संग्रहित की गई पूरी रेत बेच चुकी है। संग्रहण के नाम एकत्र 4 लाख 37 हजार क्यूविक मीटर रेत कम्पनी खदानों मेें स्टॉक में बताई जा रही है जबकि कम्पनी के पास कुछ हजार क्यूविक मीटर रेत भी नहीं है। कंपनी नदी से अवैध खनन कर प्रतिदिन बेच रही है। छत्तीसगढ़ की यह कम्पनी करीब 13 लाख 80 हजार क्यूविक रेत में से करीब साढे नौ लाख क्यूविक मीटर रेत पहले ही बेच चुकी है। स्टॉक के नाम पर कम्पनी के पास कहीं भी रेत नहीं है। खदानों में से अवैध रुप से खनन किया जाकर इतनी बडी मात्रा में करोड़ो रुपये की रेत बेंची जा रही है।

यह भी पढ़ें ः धर्म संसद से जुड़ा सवाल पूछने पर भड़के यूपी के डिप्टी सीएम, रिपोर्टर से की बदसलूकी जबरन डिलीट कराया वीडियो
    
कांग्रेस नेता ने सीएम को पन्ना ज़िले के अवैध रेत खनन मामले की याद दिलाते हुए कहा कि आपको यह विदित है कि पन्ना जिले की अयजगढ़ तहसील के दर्जनों गांवों से हजारो करोड़ रुपये की रेत अभी तक बेंच दी गई है। आपके खनिज मंत्री श्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह इसी इलाके से विधायक है और भा.ज.पा. के प्रदेश अध्यक्ष श्री बी.डी. शर्मा सांसद है। होशंगाबाद जिले में भी यह नया रेत घोटाला सामने आया है यहां भी प्रभारी मंत्री श्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह है। मैंने पूर्व में आपको पत्र लिखकर श्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह को पन्ना के रेत खनिज घोटाले में सहभागी होने का आरोप लगाकर मंत्रीमण्डल से बर्खास्त करने की मांग की थी। अब उनके प्रभार वाले जिले में एक और सैकड़ो करोड़ रुपये का रेत घोटाला आपके सामने आ गया है। 

रेत का सत्यापन कराए सरकार, प्रशासन नहीं कर रहा कोई कार्रवाई 

राज्यसभा सांसद ने सीएम से कहा कि मेरा मानना है कि होशंगाबाद कमिश्नर के माध्यम से कम्पनी द्वारा स्टॉक में बताई गई रेत का सत्यापन कराया जाये ताकि ‘‘रेत का खेल’’ सामने आ सके। क्योंकि होशंगाबाद का जिला प्रशासन प्रभारी मंत्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह के दबाव में कम्पनी के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। खनिज निगम द्वारा 5 अक्टूबर को लिखे पत्र पर भी कलेक्टर स्तर से स्टॉक संबंधी कार्यवाही नहीं की गई थी। जबकि अनुबंध की धारा 7 के अन्तर्गत कार्यवाही जिला स्तर से की जाना थी। रेत ठेकेदार द्वारा स्टॉक के नाम पर रेत खनन कर शासन को सैकड़ो करोड़ रुपये के राजस्व की क्षति पहुचाई जा रही है। कम्पनी नदी से रेत निकाल रही है। और स्टॉक के नाम पर ई-टी.पी. जारी कर रही है। शासन से यह धोखाधड़ी उच्च स्तर के राजनैतिक संरक्षण के माध्यम से हो रही है। 

प्रभारी मंत्री को पद से हटाएं 

कांग्रेस नेता ने सीएम को माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की उनकी घोषणा की याद दिलाते हुए कहा कि आप माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही की बाते रोजाना करते है पर कार्यवाही कहीं नजर नहीं आती है। मेरा आपसे अनुरोध है कि होशंगाबाद जिले के प्रभारी मंत्री श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह को जिला प्रभारी मंत्री पद से हटाया जाकर होशंगाबाद कमिश्नर के नेतृत्व में रेत स्टॉक का सत्यापन कराया जाये। मध्यप्रदेश शासन को डेढ़ सौ करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान करने वाली कम्पनी के विरुद्ध आपराधिक धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया जाकर खनिज नियमों के अनुरुप सख्त कार्यवाही की जाये।